कलेक्टर ने कहा, राजस्व प्रकरण प्राथमिकता से हल हों, अवैध अतिक्रमण हटायें

नर्मदापुरम। राजस्व एवं आपराधिक प्रकरणों का प्राथमिकता से निराकरण किया जाना सुनिश्चित करें। राजस्व प्रकरणों में आदेश होने के पश्चात उनका अधीनस्थ अमले के माध्यम से अभिलेख में अद्यतन कर आवेदक को सूचित भी करें, ताकि आवेदक को वांछित अंतिम सहायता मिल सके। यह निर्देश कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित राजस्व अधिकारियों की बैठक में सभी एसडीएम, तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार को दिए।

कलेक्टर श्री सिंह ने बैठक में सभी एसडीएम, तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार के न्यायालयवार प्रकरणों की विस्तार से समीक्षा की। निर्देश दिए कि न्यायालयों का प्रभावी ढंग से संचालन किया जाना सुनिश्चित करें। राजस्व प्रकरण अनावश्यक रूप से लंबित ना रहे। अपर कलेक्टर नर्मदापुरम को न्यायालयों का निरीक्षण कर राजस्व एवं विशेषकर आपराधिक प्रकरणों की समीक्षा करने निर्देश दिए।

बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने सभी एसडीएम एवं तहसीलदारों अवैध अतिक्रमण के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। बैठक में मुख्यमंत्री आवासीय भू अधिकार योजना, धारणाधिकार योजना एवं स्वामित्व योजना की प्रगति की भी विस्तार से समीक्षा की गई एवं अधिकारियों को योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन करने के लिए निर्देशित किया गया।

सीएम हेल्पलाइन शिकायतों पर

कलेक्टर श्री सिंह ने सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों की भी विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि शिकायतों का संतुष्टि के साथ निराकरण करें। शिकायत नॉन अटेंड न रहे यह सुनिश्चित की जाए। 50 दिवस से अधिक की शिकायतो का भी प्राथमिकता से निराकरण कराएं। कलेक्टर श्री सिंह ने जनसुनवाई और समयसीमा के प्रकरणों की भी समीक्षा की। बैठक में अपर कलेक्टर मनोज कुमार ठाकुर सहित सभी एसडीएम, तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार उपस्थित रहे।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!