BREAK NEWS

इटारसी को मिल रही है अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक सौगात श्री वेंकटेश स्वामी मंदिर

इटारसी को मिल रही है अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक सौगात श्री वेंकटेश स्वामी मंदिर

 श्री वेंकटेश स्वामी मंदिर का भूमिपूजन 6 नवंबर को

इटारसी। इटारसी को आने वाले 2 वर्षों में अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक सौगात मिलने जा रही है। अखिल भारतीय श्री स्वामी सीतारामाचार्य भागवत गोष्ठी (न्यास) द्वारा इटारसी में श्री वैंकुण्ठ सुदर्शन धाम श्री वेंकटेश मंदिर का निर्माण किया जा रहा है।
इस पुनीत पावन कार्य का भूमिपूजन एवं शंकुस्थापना समारोह 6 नवंबर रविवार को किया जाएगा।

 मध्यप्रदेश के राज्यपाल मंगूभाई पटेल होंगे शामिल

कार्यक्रम में बतौर अतिथि मध्यप्रदेश के राज्यपाल मंगुभाई छगनभाई पटेल शामिल होंगे। साथ ही अन्य अथितियों के रूप में सांसद एवं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा,  सांसद उदय प्रताप सिंह, विधायक एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीतासरन शर्मा, नगर पालिका अध्यक्ष पंकज चौरे सहित न्यास के पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे। आज गुरुवार को न्यास के अध्यक्ष श्री श्री 1008 श्री युवराज स्वामी रामकृष्णाचार्य जी महाराज एवं राष्ट्रीय सचिव श्याम काबरा द्वारा जानकारी दी गयी।

श्री श्री 1008 श्री युवराज स्वामी रामकृष्णाचार्य जी महाराज ने कहा कि इटारसी शहर जो भारत के मध्य में है, यहां पर आवागमन की संपूर्ण सुविधा को देखते हुए भारत के 16 राज्यों के भक्त मंडल भूमिपूजन एवं शंकुस्थापना आयोजन में पधार रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश का ही नहीं बल्कि भारत में अपने आप में अनूठी शिल्प कला का भव्य और ऐतिहासिक मंदिर जिसमें श्री वेंकटेश भगवान विराजित होंगे स्थापत्य कला में अद्भुत होगा दक्षिण भारत के कलाकार 64 फुट के गोपुरम यानी शिखर सहित मंदिर का निर्माण करेंगे। जो लगभग 2 वर्ष में पूर्ण होगा। मंदिर परिसर में उत्सव भवन, भक्तों के ठहरने के लिए आवास, लेजर लाइट शो, सहित निरंतर धार्मिक आयोजन होंगे।

इस धर्म क्षेत्र की विशेषताएं रहेगी 111 फीट ऊंचा रात दिन फहराने वाला राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा होगा एवं राष्ट्रीय ध्वज के समीप भारत माता का मंदिर होगा एवं 108 फीट ऊंचा धर्म ध्वज होगा ताकि राष्ट्र और धर्म के प्रति सम्मान सभी कर सकें। गौशाला भोजनशाला सहित 40000 वर्ग फुट का पार्किंग क्षेत्र रहेगा विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राएं यहां आकर धार्मिक वातावरण में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे स्वामी जी ने कहा कि हमारी संस्कृति को बचाना हमारे धर्म की रक्षा करना हमारे लिए एक संकल्प है जिसे हम अपने सामर्थ के साथ पूरा करेंगे उन्होंने कहा कि यह परिसर 5 एकड़ का है यहां पर बहुत आकर्षक पार्क भी बनेगा जिसमें भ्रमण के लिए भक्त आ सकेंगे।

भविष्य में यदि 10 एकड़ जमीन और प्राप्त होती है तो धर्म संस्कृति की शिक्षा के साथ-साथ राष्ट्र के प्रति समर्पण भाव की आधुनिक शिक्षा भी हम छात्र छात्राओं को दे सकेंगे। इस दौरान सम्प्रदाय से जुड़े स्थानीय भक्तमण्डल के सदस्य उपस्थित रहे।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!