पहाड़ों से होकर गुजरने वाले ट्रैक के किनारे ड्रेन क्लीनिंग शुरु

पहाड़ों से होकर गुजरने वाले ट्रैक के किनारे ड्रेन क्लीनिंग शुरु

वर्षाकाल में रेलवे ट्रैक पर पानी का जमाव रोकने मानसून पूर्व तैयारी
इटारसी
। वर्षा काल में रेलवे ट्रैक (railway track) पर पानी का जमाव न हो, बारिश का पानी नालियों से होकर निकल जाये और रेल परिचालन सुगम एवं निर्बाध रूप से चलता रहे, इसके लिए रेलवे (railway) ने मानसून पूर्व तैयारी शुरु कर दी है।

मंडल रेल प्रबंधक सौरभ बंदोपाध्याय (Divisional Railway Manager Saurabh Bandopadhyay) के निर्देशन व मार्गदर्शन में भोपाल मंडल रेल प्रशासन मानसून पूर्व की सभी जरूरी तैयारियां कर रहा है। छोटे एवं बड़े पुल, पुलियों के वाटर-वे की सफाई करा दी गई है, जिससे पानी की निकासी सुचारु रूप से हो सके एव मंडल में जहां-जहां पर रेल लाइन ऊंचे पहाड़ों की कटिंग से होकर गुजरती है, वहां पर ड्रेन क्लीनिंग (Drain Cleaning) का काम किया जा रहा है ताकि बारिश का पानी रेलवे ट्रैक पर न आ सके। ऊंची कटिंगों में बनी नालियों की सफाई एवं कटिंगों में गिरे बड़े-बड़े पत्थरों को हटाया जा रहा है, जिससे बारिश का पानी रेलवे ट्रैक पर न आकर आसानी से ट्रैक के किनारे बनी नालियों से होकर बह जाय।

इसी प्रकार मंडल के सभी संबंधित विभागों द्वारा मानसून पूर्व सावधानी अभियान चलाया जा रहा है, जिसके तहत समपार फाटकों, रेल पुलों, रेल पथों, संरक्षा एवं सुरक्षा से जुड़े संसाधनों, ओएचई लाइन ( OHE Line), संबद्ध उपकरणों, सिग्नल प्रणाली आदि का सघन निरीक्षण कर उनकी जांच की जा रही है और आवश्यकतानुसार उनका अनुरक्षण किया जा रहा है, ताकि बारिश के दौरान उनमें कोई दोष आने की संभावना न रहे एवं रेल परिचालन निर्बाध और सुचारू रूप से चलता रहे।

मंडल में अत्यधिक बारिश की स्थिति में उपयोग के लिए माल गाड़ी के डिब्बों में रेती एवं पत्थर, गिट्टी आदि जमा कर जगह जगह रखी जा रही है। तीसरी लाइन का कार्य कर रही पब्लिक सेक्टर कम्पनी आरवीएनएल को भी बारिश के पहले सभी ज़रूरी कार्य, जैसे पुलों के नीचे पानी का निर्बाध प्रवाह होना, पुलों के दोनों छोर पर नियमानुसार मज़बूती के लिये पत्थर लगाना, गहरी जगहों पर से पत्थर दूर करना आदि को अंजाम देने के निर्देश दिए गए हैं।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!