जीपीएस स्कूल में हुआ जीनियस उत्सव 24 का शुभारंभ

जीपीएस स्कूल में हुआ जीनियस उत्सव 24 का शुभारंभ

इटारसी। अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर जीनियस प्लानेट स्कूल में सात दिवसीय जीनियस उत्सव-24 वेदा का शुभारंभ राम भजन के साथ किया। प्रस्तुति स्कूल के म्यूजिकल ग्रुप ने लाइव आर्केस्ट्रा के माध्यम से दी। राम भजन प्रस्तुतियों में राम आएंगे और भजनों की पैरोडी को कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों एवं अभिभावक ने बहुत पसंद किया। आमंत्रित अतिथियों ने जीनियस की स्पोर्ट्स टी शर्ट का भी अनावरण किया, साथ ही स्कूल फ्लेग को फहरा कर जीनियस उत्सव-24 वेदा का शुभारंभ किया।

अतिथि सोपास के प्रदेश मीडिया प्रभारी वरिष्ठ पत्रकार शिव भारद्वाज, पूर्व क्रिकेटर कुलभूषण मिश्रा, स्कूल संस्थापक यूनिस सिद्दीकी, प्रबंधन सदस्य सुनील सचान, डायरेक्टर जाफर सिद्दीकी ने झंडा फहराकर किया। इस अवसर पर कुलभूषण मिश्रा ने कहा कि मैं कई स्कूल में जाता हूं लेकिन जितने खेल और एक्टिविटी जीनियस प्लानेट में कराई जाती है कहीं भी नहीं होती। शिव भारद्वाज ने कहा कि इस शुभ दिन जीनियस उत्सव का आरंभ राम भजन से किया जा रहा है, वह अपने आप में ही सफल उत्सव होगा। संचालन मनीता मनीता सिद्दीकी ने किया। कार्यक्रम में प्रदीप जैन, संध्या जैन, राकेश दुबे, कन्हैया, नितिन यादव, पल्लवी सिंह, धर्मिशा यादव के साथ ही अन्य अभिभावक उपस्थित थे।

स्पोर्ट्स इवेंट के दूसरे दिन विद्यार्थियों के लिए 100, 200 मीटर रेस, टेबल टेनिस, बैडमिंटन, खो खो, कबड्डी, रोप पुल्लिंग आर्म रेसलिंग, फ्रॉग जम्प, बास्केट रेस, चेयर रेस, स्लो साइकिल रेस, शेक रेस आदि कराई गई। विजेताओं को अतिथि पूर्व हॉकी खिलाड़ी लखन सिंह बैस, सभापति राकेश जाधव, पूर्व पार्षद हरप्रीत छाबड़ा एवं डीएचए सचिव हॉकी कोच कन्हैया गुरयानी ने पहले, दूसरे एवं तीसरे स्थान पर आये विद्यार्थियों को क्रमश: गोल्ड, सिल्वर एवं ब्रोंज मेडल प्रदान किए। अतिथियों का स्वागत जाफर सिद्दीकी ने किया।

कन्हैया गुरयानी ने कहा कि स्कूल तो बहुत हैं लेकिन स्पोर्ट्स सभी जगह नहीं कराये जाते, राकेश जाधव ने कहा कि अधिकांश स्कूल भगवान या किसी संत के नाम से होते हैं, परन्तु जीनियस का नाम जीनियस क्यों है यह आज बच्चों की परफॉरमेंस को देखकर समझ आया। लखन बैस एवं हरप्रीत छाबड़ा ने विद्यार्थियों को शुभकामनायें दीं। स्पोर्ट्स इवेंट को सफलतापूर्वक आयोजित करने खेल शिक्षक कृष्णा साहू एवं सोनू रैकवार के साथ ही शिक्षक शिकक्षिकाओं का सराहनीय योगदान रहा।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!