विस्थापित गांवों में सरकार नहीं दे रही सुविधाएं

डिंडौरी। हमारा गांव संगठन की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक डिंडौरी जिले के चांड़ा गांव में हुई। प्रदेश संयोजक दुर्गेश धुर्वे की अध्यक्षता में संगठन की दो दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति की बैठक हुई, बैठक में केंद्र एवं राज्य द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को जमीनी स्तर तक उतारने एवं पात्र हितग्राहियों को लाभ दिलाने पर चर्चा की गई। बैठक में तय किया गया कि जिस भी ग्राम-टोला-वनग्राम में शासन की योजनाएं नहीं पहुंच रही हैं, वहां अधिकारियों से चर्चा कर लाभ दिलाया जाएगा, जरूरत पड़ी तो आंदोलन भी करेंगे।

प्रदेश अध्यक्ष उजियार सिंह ने बताया कि सरकार आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों का विस्थापन बड़े पैमाने पर कर रही है, जिससे प्रभावित गांव में रहने वाले प्रत्येक वर्ग के व्यक्ति को विस्थापित होना पड़ता है, अधिकारी विस्थापन और पुनर्वास के नियमों को पूरी तरह से लागू नहीं करते हैं, इससे ग्रामीण परेशान होते हैं। रवि ने कहा पूर्व में बहुत से गांव ऐसे हैं, जो विस्थापित हुए, लेकिन आज भी नई जगह पर सुविधाओं की कमी है।

ऐसे गांवों में शासन की योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है, ऐसे गांवों को हमारा संगठन चयनित कर कार्रवाई करेगा, जिससे ग्रामीणों का भला हो सके। बैठक में प्रदेश संयोजक दुर्गेश धुर्वे, प्रदेशाध्यक्ष उजियार सिंह, प्रदेश सचिव रंजीत सर्राटे, प्रदेश प्रमुख रामकरण, प्रदेश संस्कृति एवं रीति रिवाज प्रमुख हरिहर सिंह श्याम, नर्मदापुरम जिला संयोजक शुभम कलम, डिंडोरी जिला संयोजक पवन सांडया, अनूपपुर जिला संयोजक धनराज सिंह श्याम, उमरिया जिला संयोजक महेश परस्ते, शह्डोल जिला संयोजक पारसमड़ी सिंह कवर, ब्लाक संयोजक अजीत कुमार मार्को एवं सदस्य मौजूद रहे।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!