दशहरा से दो दिन तक ही प्रतिमाएं विसर्जित की जाएं

दशहरा से दो दिन तक ही प्रतिमाएं विसर्जित की जाएं

  • – जिला शांति समिति की बैठक में किया निर्णय
  • – सभी त्यौहार शांतिपूर्ण एवं आपसी सद्भाव से मनाएं
  • – आदर्श आचरण संहिता का पालन करते हुए मनाएं त्योहार

नर्मदापुरम। त्योहारों पर कानून व्यवस्था के संबंध में शनिवार को कलेक्ट्रेट (Collectorate) कार्यालय के सभाकक्ष में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सोजन सिंह रावत (Sojan Singh Rawat) की अध्यक्षता में जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक में समिति के सदस्यों ने पर्वों पर आवश्यक व्यवस्थाओं को लेकर चर्चा की एवं सुझाव दिए। निर्णय लिया कि दशहरा से लेकर दो दिनों तक ही मूर्तियों का विसर्जन हो, पीओपी (POP) की मूर्तियों पर प्रतिबंध जारी रहेगा और रात 10 से सुबह 6 बजे तक ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग पर भी प्रतिबंध रहेगा।

बैठक में श्री रावत ने निर्देशित किया कि त्योहार आदर्श आचरण संहिता एवं चुनाव आयोग के दिशा निर्देश अंतर्गत मनाएं। सभी पंडालों, चल समारोह आदि कार्यक्रमों के लिए संबंधित अनुविभागीय अधिकारियों से अनुमति प्राप्त करना अनिवार्य होगा। बैठक में अपर कलेक्टर देवेंद्र कुमार सिंह (Devendra Kumar Singh), एडिशनल एसपी आशुतोष मिश्रा (Ashutosh Mishra), डीएसपी ट्रैफिक संतोष मिश्रा (Santosh Mishra), एसडीओपी पुलिस पराग सैनी (Parag Saini), डिस्ट्रिक्ट कमांडेंट राजेश जैन (Rajesh Jain) सहित अन्य शांति समिति के सदस्य उपस्थित रहे। शांति समिति की बैठक में निर्णय लिया कि आगामी त्योहारों पर जिले में प्लास्टर ऑफ पेरिस (पीओपी) मूर्तियों के निर्माण एवं विक्रय पर प्रतिबंध रहेगा। साथ ही शांति समिति के सदस्यों ने जिले वासियों से आग्रह किया है कि नवरात्र के उपरांत दशहरा से लेकर दो दिनों तक प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाए।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री रावत ने कहा पूर्व की तरह जिले में आगामी पर्व भी शांतिपूर्ण एवं आपसी सद्भाव के साथ मनाए जाए। नगर पालिका को निर्देश दिए कि आगामी सभी पर्वों पर स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाए। त्योहारों के दौरान पेयजल, विद्युत आपूर्ति की भी बेहतर व्यवस्था रहे। उन्होंने राजस्व, पुलिस एवं होमगार्ड के अमले को विसर्जन एवं स्नान पर्वों के दौरान घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू रहे। आगामी त्योहारों पर निकाले जाने वाले चल समारोह, पंडालों आदि की विस्तृत सूचना संबंधित एसडीएम कार्यालय को दी जाएं।

आगामी प्रमुख पर्व

जिले में आगामी प्रमुख पर्व में 15 अक्टूबर को नवरात्र प्रारंभ, 23 अक्टूबर को दशहरा, 28 अक्टूबर शरद पूर्णिमा, 1 नवंबर मध्य प्रदेश स्थापना दिवस, 12 नवंबर दीपावली आदि पर्व मनाए जाएंगे।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!