कार्तिक मास 2022 : जाने तिथि, महत्व और नियम

कार्तिक मास 2022 : जाने तिथि, महत्व और नियम

कार्तिक मास 2022 जाने, महत्‍व, तुलसी पूजन का महत्‍व, कार्तिक के महीले में क्‍या ना खाएं, कार्तिक के महीने में जरूर करें यह कार्य

कार्तिक मास 2022 (Kartik Month 2022)

हिंदू धर्म में कार्तिक मास का अधिक महत्व है। क्‍याेकि कार्तिक माह भगवान विष्णु का सबसे प्रिय माह होता है। इस माह में पवित्र नदी में स्नान करके तुलसी माता की पूजा करना बहुत ही लाभकारी माना जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास चातुर्मास का आखिरी माह होता है। इसी माह आने वाली देवउठनी एकादशी के दिन देव उठ जाते हैं।

कार्तिक मास शरद पूर्णिमा के एक दिन बाद से प्रारंभ हो जाता हैं। इस वर्ष कार्तिक माह 10 अक्‍टूबर,2022 से प्रारंभ होगा और 8  नवंबर,2022 को कार्तिक पूर्णिमा के दिन समाप्‍त होगा।

कार्तिक मास का महत्‍व (Importance Of Kartik Month)

कार्तिक मास

पौराणिक मान्‍यताओं के कार्तिक मास चातुर्मास का आखिरी माह होता हैं। कार्तिक मास में ही देवउठनी एकादशी के दिन भगवान श्री हरि चार महीने की निद्रा के बाद उठते हैं। इस महीने में भगवान विष्‍णु के साथ माता तुलसी का पूजन बेहत लाभकारी माना जाता हैं।

इसी माह में तुलसी एवं शालिग्राम का विवाह होता है। इस माह में पवित्र नदी में स्‍नान, दीप दान, यज्ञ आदि धार्मिक कार्य करने से सारे कष्‍ट दूर होते हैं और पुण्‍य की प्राप्ति होती है इसी माह में धनतेरस, दीवाली, छठ और कार्तिक पूर्णिमा जैसे महत्‍वपूर्ण त्‍यौहार आते हैं।

कार्तिक माह में तुलसी पूजन का महत्‍व (Importance of Tulsi Puja in Kartik month)

कार्तिक मास

कार्तिक मास में भगवान विष्‍णु और माता तुलसी की पूजा करना बेहत लाभकारी माना जाता हैं ऐसी मान्यता है कि इस माह में तुलसी पूजन से यमदूतों के भय से मुक्ति मिलती है। और इस माह में लगातार एक महीने तक तुलसी के सामने घी का दीपक जलाने से घर में सुख-समृद्धि का आती है। और माता लक्ष्‍मी का वास हमेशा बना रहेता हैं। इस मास में तुलसी के पौधे को लगाना बहुत पुण्यदायी माना जाता है।

कार्तिक मास में क्‍या ना खाएं (What Not To Eat In kartik Month)

कार्तिक मास

  • पौराणिक मान्‍यताओं के अनुसार इस महीने में भगवान विष्‍णु मत्‍स्‍य अवतार में रहते हैं, इसलिए इस माह में मासाहारी  चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • कार्तिक मास में बैंगन उड़द, चना, मसूर, मूंग, मटर नहीं खाना चाहिए।
  • कार्तिक मास में जीरे के उपयोग भी नहीं करना चाहिए।
  • कार्तिक मास में दही का सेवन न करना चाहिए। इस माह में दही खाना संतान के लिए अशुभ माना जाता है।
  • कार्तिक के महीने में मूली खाना शास्‍त्रों में बहुत ही फायदेमंद माना गया है। इस मौसम में कफदोष और पित्तदोष संबंधित बीमारियां होने की समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं इसलिए इस माह में मूली खाना लाभकारी है।

यह भी पढें : लाभ पंचमी 2022 : करोबार में उन्‍नति के लिए जरूर करे यह व्रत जाने सम्‍पूर्ण जानकारी

कार्तिक मास में जरूर करें यह कार्य (Do this work in Kartik month)

  • कार्तिक के महीने में गंगा या किसी पवित्र नदी में डुबकी लगाना बहुत ही शुभ माना गया है। अगर आप गंगा में स्‍नान नहीं कर सकते तो घर पर नहाने के पानी में गंगा जल मिलाकर स्‍नान करना चाहिए।
  • स्‍नान के बाद प्रतिदिन सूर्य को नमस्‍कार कर जल चढाना चाहिए।
  • कार्तिक माह के पूरे 30 दिन तुलसी के नीचे घी का दीपक जरूर जलाना चाहिए। यदि आप प्रतिदिन दीपक नहीं जला सकते है तो देवउठनी एकादशी से लेकर कार्तिक पूर्णिमा तक 5 दिन दीपक जरूर जलाएं।
  • कार्तिक माह में भगवान विष्‍णु का स्‍मरण करते हुए शाम के समय घर के मंदिर में तिल के तेल का दीपक जलालें। पौराणिक मान्‍यताओं के अनुसार भगवान विष्‍णु ने स्‍वयं कुबेरजी से कहा के कार्तिक मास में जो मेरी उपासना करे उसे कभी धन की कमी मत होने देना।
  • कार्तिक माह में पलंग पर सोने की बजाए जमीन पर सोना अधिक श्रेष्ठ माना जाता है।
  • कार्तिक माह में जरूरतमंदों को अन्न और वस्‍त्र का दान करना चाहिए।
CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!