वेंकटेश स्वामी मंदिर भूमिपूजन की तैयारियां पूर्ण, कल प्रात: प्रारंभ होगा समारोह

वेंकटेश स्वामी मंदिर भूमिपूजन की तैयारियां पूर्ण, कल प्रात: प्रारंभ होगा समारोह

भूमिपूजन के लिए विशेष रूप से आएंगे गजराज, अश्व और गौमाता
इटारसी। अखिल भारतीय श्री स्वामी सीतारामाचार्य भागवत गोष्ठी न्यास के द्वारा लगभग 25 करोड़ की लागत से निर्मित किए जाने वाले प्रस्तावित श्री बैकुंठ धाम व्यंकटेश मंदिर रामानुजनगर धोखेड़ा के भूमि पूजन के मुख्य समारोह के लिए तैयारियां लगभग अंतिम चरण में है।
भूमिपूजन समारोह के लिए विशेष रूप से गजराज, अश्व (घोड़ा) एवं गौमाता भी बुलायी गयी है जिनके पूजन के साथ भूमि पर हल चलाया जाएगा। समिति अध्यक्ष श्री 1008 श्री युवराज रामकृष्णाचार्य स्वामी के संपूर्ण मार्गदर्शन में तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। रविवार 6 नवंबर को समारोह के मुख्य अतिथि मध्य प्रदेश के राज्यपाल मंगूभाई छगन भाई पटेल एवं श्री 1008 श्री गोवर्धन रंगाचार्य स्वामी जी महाराज वृंदावन रहेंगे। समारोह के विशेष अतिथि मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष बीडी शर्मा, सांसद राव उदय प्रताप सिंह, विधायक डॉ सीतासरन शर्मा, कटनी विधायक संजय सत्येंद्र पाठक एवं नगर पालिका अध्यक्ष पंकज चौरे रहेंगे।
नर्मदा पुरम कलेक्टर नीरज कुमार सिंह एवं पुलिस अधीक्षक डॉक्टर गुरकरण सिंह ने बैकुंठ मंदिर के भूमिपूजन समारोह के लिए चल रही तैयारियों का जायजा लिया। इस अवसर पर समिति के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता भी मौजूद थे। समिति के अध्यक्ष श्री 1008 श्री युवराज रामकृषणाचार्य स्वामी जी ने पत्रकारों को बताया कि जिला प्रशासन के द्वारा आयोजन को लेकर पूर्ण सहयोग दिया जा रहा है एवं हमारे द्वारा भी प्रोटोकॉल को लेकर पूरी सतर्कता बरती जा रही है। उन्होंने कहा कि मुख्य समारोह के पश्चात देश के 16 राज्यों से आने वाले एवं स्थानीय भक्तों का भोजन प्रसादी का कार्यक्रम भी रखा गया है, और दोपहर बाद श्रीमद्भागवत पर विशेष प्रवचन भी होंगे। कार्यक्रम के दौरान अतिथियों के बैठने के लिए सेक्टर के अनुसार अलग-अलग व्यवस्था की गई है। वाहन पार्किंग के लिए पर्याप्त व्यवस्था है। आने वाले भक्त नेशनल हाईवे 46 पर रामानुजनगर धोखेड़ा कार्यक्रम परिसर में अपने वाहन आसानी से खड़े कर सकेंगे। आयोजन समिति में भक्त गणों से अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होने का आग्रह किया है। करीब 5000 भक्तों के बैठने की व्यवस्था मुख्य पंडाल में की गई है। इस अवसर पर जो शंकु पूजन होगा जहां भगवान व्यंकटेश का मंदिर बनेगा वहां पर 15 गुणा 15 फीट गहरे गड्ढे में शंकु स्थापना की जाएगी। इस हेतु गजराज को भी विशेष रूप से इटारसी लाया गया है। संपूर्ण पूजा पाठ एवं भूमिपूजन समारोह के पूजा आचार्य कर्नाटक से पधार रहे रामप्रिय भट्टर स्वामी जी रहेंगे, जो वैदिक रीति रिवाजों एवं धर्म शास्त्रों के अनुसार पूजन करवाएंगे।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!