स्कूल और कॉलेज में वास्तविक अयोध्या कांड का अध्याय पढ़ाया जाना चाहिए

स्कूल और कॉलेज में वास्तविक अयोध्या कांड का अध्याय पढ़ाया जाना चाहिए

इटारसी। श्रीनिवास मंडपम (Srinivas Mandapam) बैंक कॉलोनी (Bank Colony) में प्रभु श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा का महोत्सव पूरे दिन भर मनाया गया। लगभग एक किलोमीटर क्षेत्र में मार्ग के दोनों तरफ दीप प्रज्वलित किए। जोरदार आतिशबाजी की गई एवं श्रीनिवास मंडपम में भजनों की प्रस्तुति हुई। ललिता रघुवंशी (Lalita Raghuvanshi) एवं कमल गट्टानी कटनी (Kamal Gattani Katni) ने सुमधुर भजन प्रस्तुत किए।

इस अवसर पर श्री श्री 1008 युवराज स्वामी रामकृष्ण आचार्य (Swami Ramakrishna Acharya) जी ने व्यास पीठ से अपने संबोधन में कहा कि देश के इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ गया। मुगलों का इतिहास पढ़ाने की बजाय स्कूल और कॉलेज के बच्चों को अब यह पढ़ाया जाना चाहिए की 500 साल बाद अयोध्या में प्रभु श्री राम (Prabhu Sri Ram) कैसे विराजे। इसका विधिवत एक अध्याय केंद्र और राज्य की सरकारों को स्कूली शिक्षा और महाविद्यालय शिक्षा में लाना चाहिए।

आचार्य रामकृष्ण आचार्य जी ने कहा कि प्रभु श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा इसी काल में और इसी सरकार के कार्यकाल में पूरी होनी थी। जिसका श्रेय देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को ही जाता है। श्रीनिवास मंडपम में बड़ी संख्या में अखिल भारतीय भागवत गोष्ठी के सदस्य और कार्यकर्ता मौजूद थे। बड़े महाराज श्री श्री 1008 स्वामी श्री सुदर्शनाचार्य ( Swami Sri Sudarshanacharya)( Swami Sri Sudarshanacharya) जी महाराज ने सभी भक्तों को आशीर्वाद दिया। आरती के पश्चात प्रसाद वितरण किया गया।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!