नवंबर के पहले सप्ताह में बढ़ सकता है सर्दी का सितम

नवंबर के पहले सप्ताह में बढ़ सकता है सर्दी का सितम

इटारसी। मौसम में मामूली ठंडक का अहसास कर रहे लोगों को अब यह मान लेना चाहिए कि सर्दी का सितम शुरु होने में ज्यादा वक्त नहीं है। नवंबर के पहले सप्ताह से ही सर्दी का सितम झेलना पड़ सकता है।

उत्तर भारत (North India) में पारा नीचे आ रहा है और इसका असर प्रदेश में भी पडऩे के आसार नजर आ रहे हैं। मौसम विशेषज्ञों (Weather Experts) का अनुमान है कि 2 नवंबर या उसके बाद से पश्चिमी विक्षोभ (Western Disturbance) सक्रिय होगा और पारे में गिरावट आने की संभावना है, जिससे सर्दी का सितम शुरु हो सकता है। कहीं-कहीं बूंदाबांदी के कारण भी पारा नीचे आएगा और ठंड में बढ़ोतरी हो सकती है। हालांकि अगले चौबीस घंटे शुष्क ही गुजरेंगे और दिन में गर्मी और रात में ठंडक जैसा मौसम ही रहेगा।

पिछले चौबीस घंटे में सर्वाधिक अधिकतम तापमान 34.7 डिग्री सेल्सियस दतिया (Datia) में रहा और सबसे कम न्यूनतम 14.4 छिंदवाड़ा (Chhindwara) में रिकार्ड किया गया है। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के अधिकांश संभागों में पिछले कुछ दिनों से ऐसा ही मौसम रहा है, लेकिन उत्तर भारत में हो रहे मौसम के बदलाव का असर जल्द ही मध्यप्रदेश में भी देखने को मिल सकता है, हालांकि आगामी चौबीस घंटे में तो मौसम में बड़ा बदलाव नहीं देखने को मिलेगा। नवंबर के प्रथम सप्ताह से बदलाव की संभावना जतायी जा रही है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!