नि:शुल्क सर्वधर्म सामूहिक विवाह में दो जोड़े परिणय बंधन में बंधे

इटारसी। ग्राम रामपुर में 12 वे वर्ष में नि:शुल्क सर्वधर्म सामूहिक विवाह का आयोजन किया जिसमें 2 जोड़ों का विवाह कराये गये। समिति इससे पूर्व 11 वर्षों में सैंकड़ों विवाह करा चुकी है। कोरोना के समय दो वर्ष वैवाहिक कार्यक्रम नहीं हुए। इस वर्ष 12 वे वर्ष में दो विवाह हुए हैं।

आयोजन समिति के प्रमुख भाजपा के जिला उपाध्यक्ष आशुतोष शरण तिवारी ने बताया कि पूर्व वर्षों में कभी 36, कभी 29 तो कभी 37 विवाह भी कराये गये थे। कोरोनाकाल में दो वर्ष का गेप हो गया। इस वर्ष दो जोड़ों का विवाह कराया। पूर्व वर्षों में रामपुर के स्कूल परिसर में बड़ा आयोजन होता रहा है, इस वर्ष स्कूल में बोर्ड की परीक्षाएं चलने के कारण मंदिर में केवल दो जोड़ों का विवाह कराके परंपरा को गति दी गई है।

आज सोमवार को रामपुर के मंदिर 2 जोड़ों के विवाह उपरांत सोने के दो और चांदी के चार आभूषण, टीवी, फ्रीज, डबलबेड, बर्तन सहित करीब एक लाख रुपए के उपहार वर-वधु को समिति की ओर से प्रदान किये। समाजसेवियों ने भी अपनी ओर से कुछ न कुछ उपहार दिये हैं। इस दौरान वरमाला और फेरे के के बाद सामूहिक भोज भी कराया गया।

श्री तिवारी ने बताया कि यह पूरा कार्यक्रम उनके द्वारा आयोजित किया जाता है, जिन्हें भी कोई वस्तु देना होती है, वह वर-वधू को देते हैं। इसके अलावा सारा खर्च वे ही वहन करते हैं। सामूहिक विवाह में पूर्व में हिंदू के अलावा मुस्लिम समाज की बेटियों की विवाह कराई गई, इसलिए इसे सर्वधर्म सामूहिक विवाह का नाम दिया जाता है।

आज के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एसडीओपी पुलिस महेंद्र सिंह चौहान, जनपद पंचायत होशंगाबाद के अध्यक्ष भूपेंद्र चौकसे, सांसद प्रतिनिधि भगवती चौरे, मंडल अध्यक्ष विनय यादव, भाजपा नेता बहादुर चौधरी, नीलेंद्र पटेल, दिलीप पटेल, शंभू दयाल पटेल और भारतीय जनता पार्टी मोर्चा के मंडल अध्यक्ष विकास पटेल सहित अनेक ग्रामीण और समाजसेवी मौजूद रहे।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!