अनूठा और अपूर्व तीन दिनी विज्ञान-37 कार्यक्रम 29 अक्टूबर से

अनूठा और अपूर्व तीन दिनी विज्ञान-37 कार्यक्रम 29 अक्टूबर से

  • – विज्ञान शिक्षक राजेश पाराशर अपने रिटायरमेंट पर करेंगे आयोजन
  • – देशभर के 37 विद्वान शामिल होंगे, कई ज्ञानवर्धक गतिविधियां की जाएंगी

इटारसी। सामान्यत: अपने रिटायरमेंट पर लोग कार्यस्थल से ढोल-ढमाकों के बीच नाचते-गाते परिजनों के साथ घर तक आते हैं, खाने खिलाने का दौर चलता है। लेकिन, क्या सेवा के जिन वर्षों में एक शासकीय सेवक ने जो जिया है, उसे यादगार बनाने के लिए उसी विषय पर एक ज्ञानवर्धक और अनूठा कार्यक्रम पेश करने का कोई उदाहरण बना है? यह सवाल यदि आपके जेहन में आए तो उसका उत्तर भी अब हां में ही मिलेगा।

शासकीय उत्कृष्ठ उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के विज्ञान शिक्षक राजेश पाराशर ऐसा उदाहरण पेश करने जा रहे हैं। अपने 37 वर्षों के सेवाकाल को यादगार बनाने के लिए राजेश पाराशर ने ‘विज्ञान-37’ नामक कार्यक्रम अपने स्वयं के खर्च पर करने का निर्णय लिया और वे इस पथ पर चल पड़े हैं। इटारसी और केसला के उत्कृष्ट उमा शाला में होने वाले तीन दिवसीय कार्यक्रम में देश 37 स्रोत विद्वान, 37 घंटे की अवधि तक बच्चों के बीच रहेंगे और अपना सारा ज्ञान इन बच्चों को समर्पित करेंगे। इस विज्ञान पर्व में उत्कृष्ट विद्यालय केसला के जनजातीय वर्ग के बच्चे भी अपनी विज्ञान प्रतिभा को प्रदर्शित करेंगे।

इस तरह होगा कार्यक्रम

कार्यक्रम का प्रारंभ 29 अक्टूबर को शाम 6 से रात 10 बजे तक फ्रेन्ड्स स्कूल मैदान इटारसी में होगा जिसमें टेलिस्कोप के जरिए स्काईवाचिंग होगी। 30 अक्टूबर को सुबह 6 बजे उत्कृष्ट विद्यालय केसला के प्रांगण में बर्डवाचिंग होगी। इसी दिन सुबह 11 बजे से विज्ञान-37 का उद्घाटन न्यूनलागत प्रयोगों को का अपूर्व विज्ञान मेला, सूखी पत्तियों से चित्रकला, गोंडी चित्रकला, कागज की टोपी से ओरिगामी, वैज्ञानिकों से बच्चों की बात, वॉटर रॉकेटरी और पपेट शो तथा शाम 6 बजे से फ्रेन्ड्स स्कूल इटारसी के मैदान में टेलीस्कोप से स्काई वाचिंग। 31 अक्टूबर को सुबह 11 बजे से उत्कृष्ट विद्यालय केसला के परिसर में विज्ञान-37 की दूसरे दिन की गतिविधियां होंगी।

ये स्रोत विद्वान हैं आमंत्रित

अनुज सिन्हा पूर्व वैज्ञानिक सलाहकार भारत सरकार नई दिल्ली, सुरेश अग्रवाल एसोसियेशन फॉर रिसर्च एंड ट्रेनिंग इन बेसिक साइंस एजुकेशन नागपुर, डॉ. ओपी गुप्ता प्रयागराज उत्तरप्रदेश, व्हीबी रायगांवकर पुणे महाराष्ट्र, डॉ. वीके मुदगिल झांसी उत्तरप्रदेश, लखन साहू उत्तर बस्तर छत्तीसगढ़, बी मरकाम उत्तर बस्तर छत्तीसगढ़, डॉ. आरपी सीठा शिक्षाविद नर्मदापुरम, प्रमोद द्रविड़ शिक्षविद नासिक, सैकत चंदा पक्षी विशेषज्ञ उज्जैन, शैलेश संसारे, प्रशांत कुमार, मंगेश गायकवाड़ टेक्नोविजन मुंबई, महेश कुमार बसेडिय़ा ओरिगेमी विशेषज्ञ नर्मदापुरम, श्रीमती पार्वती मरावी गोंडी चित्रकला भोपाल, सुरेश पटेल लोक कलाकार पिपरिया, उदय सिंह तोमर स्रोत विद्वान हार्टिकल्चर, अनिल सिंह स्रोत विद्वान मधुमक्खी पालन, अल्फ्रान उद्दीन स्रोत विद्वान रोबोटिक्स।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!