VIDEO: मकर संक्रांति पर नर्मदा के घाटों पर उमड़ा भक्तों का जनसैलाब

VIDEO: मकर संक्रांति पर नर्मदा के घाटों पर उमड़ा भक्तों का जनसैलाब

नर्मदापुरम। आज सोमवार को मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के पावन मौके पर नर्मदा (Narmada) के सभी घाट सुबह से भक्तों से भर गए थे। श्रद्धालु यहां पुण्य स्नान करने यहां उमड़ पड़े। स्नान करने के बाद जमकर दान भी दिया और फिर पूजा-पाठ कर पुण्य लाभ अर्जित किया। पर्व पर पुलिस (Police) ने बेहतर यातायात और सुरक्षा व्यवस्था बनार्ई।

नर्मदा नदी में पुण्य स्नान करने रात से ही घाटों पर श्रद्धालुओं का पहुंचना शुरु हो गया था, ठंड कम होने से श्रद्धालुओं को स्नान करने में कोई विशेष परेशानी नहीं आयी। अलसुबह सेठानी घाट समेत अन्य सभी घाटों पर श्रद्धालुओं का मेला नजर आने लगा। सुरक्षा के लिए घाट पर होमगार्ड जवान (Home Guard Jawan) मोटरबोट (Motorboat) के साथ तैनात हैं। सेठानीघाट (Sethanighat) , कोरीघाट (Korighat), पर्यटन घाट (Tourism Ghat), मंगलवारा घाट (Mangalwara Ghat), हरबलपार्क घाट (Harbalpark Ghat), सर्किट हाउस घाट (Circuit House Ghat), विवेकानंद घाट (Vivekananda Ghat) पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु नर्मदा स्नान करने पहुंच रहे हैं।

सूर्य के उत्तरायण होने का पर्व मकर संक्रांति नर्मदापुरम में आस्था पूर्वक मनाया जा रहा है। इस दौरान नर्मदा के सेठानी घाट सहित अन्य घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ स्नान और दान के लिए पहुंच रही है। मकर संक्रांति पर पुण्यस्नान का समय सुबह 9.24 से पहले ही हजारों की संख्या में लोग घाटों पर पहुंच चुके थे। पुण्य स्नान कर भक्तों ने सूर्य देव अर्ध दिया और नर्मदा पूजन कर दरिद्र नारायण को दान पुण्य किया।

मकर संक्रांति पर खिचड़ी और तिल से बनी सामग्री दान करने से परिवार सुखी और समृद्ध रहता है। पहले 14 जनवरी को मकर संक्रांति मनायी जाती थी, लेकिन अब मकर संक्रांति 15 जनवरी को मनाई जाती है। मकर संक्रांति की तिथि से सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते हैं, इसलिए यह मकर संक्रांति कहलाती है। इस दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाते हैं और मकर राशि में प्रवेश करते हैं।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!