रोड नहीं तो वोट नहीं के नारे के साथ चुनाव बहिष्कार की चेतावनी

रोड नहीं तो वोट नहीं के नारे के साथ चुनाव बहिष्कार की चेतावनी

इटारसी। तिलक सिंदूर (Tilak Sindoor) मुख्य मार्ग से झालई (Jhalai) भाग-1, सांकई (Sankai) भाग-2 तक कुल सात किलोमीटर रोड निर्माण नहीं होने से नाराज आदिवासी (Tribal) ग्रामीणों ने आज रोड (Road) नहीं तो वोट नहीं के नारे के साथ विधानसभा चुनाव के बहिष्कार की चेतावनी दे दी। ग्रामीणों का कहना है कि प्रमुख सचिव वन (Principal Secretary Forest) नर्मदापुरम (Narmadapuram) प्रवास के दौरान 26 फरवरी 2021 को आदिवासी संगठन ने उनके समक्ष तिलक सिंदूर मुख्य मार्ग से झालई भाग-01 से सांकई भाग-02 तक कुल 7 किलोमीटर मार्ग बनाने की मांग रखी थी जिस पर रोड बनाने का आश्वासन मिली था। बावजूद इसके सड़क का निर्माण अभी तक नहीं कराया गया है।

सड़क निर्माण नहीं होने से विस्थापित वन ग्राम में रहने वाले परिवारों को कईं परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सड़क नहीं होने से बच्चे स्कूल (School)नहीं जा पा रहे है, गर्भवती महिलाओं को अस्पताल (Hospital) जाने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। गर्भवती महिलाओं को खतरा तो है ही साथ ही उनके पेट में पलने वाले शिशु को भी खतरा बना हुआ है। आज सड़क के जल्द निर्माण की मांग लेकर आदिवासियों ने तहसीलदार को एक ज्ञापन देकर जल्द से जल्द सड़क निर्माण की मांग की है। साथ ही उन्होंने ज्ञापन के माध्यम से कहा है कि अगर इस ज्ञापन पर कार्यवाही नहीं की जाती है तो न सिर्फ आदिवासी समाज द्वारा आने वाले समय में उग्र आंदोलन किया जायेगा, बल्कि विधानसभा चुनावों का बहिष्कार भी किया जाएगा।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!