मिट्टी से भविष्य का निर्माण कर रही महिलाएं

मिट्टी से भविष्य का निर्माण कर रही महिलाएं

  • – आत्मनिर्भर बनाने दिया जा रहा है मिट्टी कला का प्रशिक्षण

नर्मदापुरम। नर्मदापुरम जिले (Narmadapuram District) में मध्य प्रदेश पर्यटन बोर्ड (Madhya Pradesh Tourism Board) के द्वारा संचालित महिलाओं हेतु सुरक्षित पर्यटन स्थल परियोजना के अंतर्गत जिला प्रशासन, जिला पुरातत्व पर्यटन एवं संस्कृति परिषद के सहयोग से इंडियन ग्रामीण सर्विसेज (Indian Rural Services) के द्वारा मढ़ई (Madhai) पर्यटन स्थल पर 15 महिलाओं को निशुल्क मिट्टी कला का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

प्रशिक्षण के शुभारंभ में जिला पुरातत्व पर्यटन एवं संस्कृति परिषद के परियोजना पर्यटन प्रबंधक मनोज सिंह ठाकुर (Manoj Singh Thakur) ने उपस्थित रहकर प्रशिक्षुओं का उत्साह वर्धन किया साथ ही सभी प्रशिक्षुओं से चर्चा भी की। इंडियन ग्रामीण सर्विसेज के अर्चना दास (Archana Das) ने बताया कि महिलाओं को हस्तकला का प्रशिक्षण देकर स्वरोजगार बनाने प्रयास किया जा रहा है। पचमढ़ी (Pachmarhi) में बांस हस्तशिल्प तवा (Tawa) में बैग बनाने का प्रशिक्षण भी दिया था। महिलाओं को हस्तशिल्प के साथ-साथ अपनी कला प्रदर्शन का एक मौका मिल रहा है। इसी उद्देश्य के साथ महिलाओं को मिट्टी कला का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

इसके माध्यम से मिट्टी के विभिन्न प्रकार के सामान बनाकर मढ़ई पर्यटन स्थल पर बाहर से आये पर्यटकों को बेच पाएंगे एवं पर्यटकों को एक श्रुति स्मारक चिन्ह लेकर जाने का मौका भी मिलेगा। छेड़का एवं ढाबा पर्यटक ग्राम में आने वाले पर्यटकों को मिट्टी बर्तन बनाने का अनुभव भी दिया जाएगा जिसके माध्यम से ग्रामीण महिलाओं को रोजगार भी मिल पाएगा। मिट्टी कला का प्रशिक्षण प्रशिक्षक हेमंत प्रजापति द्वारा एक महीना तक दिया जाएगा।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!