युवाओं ने की सिवनी मालवा को आदिवासी विधानसभा घोषित करने की मांग

युवाओं ने की सिवनी मालवा को आदिवासी विधानसभा घोषित करने की मांग

  • – ग्राम नांदनेर में हुई आदिवासी युवाओं की विचार गोष्ठी

इटारसी। ग्राम नांदनेर (Village Nandner) में हुए आदिवासी युवा मिलन समागम विचार संगोष्ठी में समाज के युवाओं ने सिवनी मालवा (Seoni Malwa) विधानसभा को आदिवासी उम्मीदवार के लिए आरक्षित करने की मांग की है। विचारगोष्ठी का आयोजन भीलट बाबा देव स्थल में रखा गया था जिसमें कई युवाओं ने हिस्सा लिया।

युवा विचार संगोष्ठी में कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हुई। युवाओं का मानना है कि नर्मदापुरम जिले (Narmadapuram District) का सबसे बड़ा आदिवासी बाहुल्य ब्लॉक केसला (Block Kesla) सिवनी मालवा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है जिसमें 52 ग्राम पंचायत हैं, उन ग्राम पंचायतों में 150-200 आदिवासी गांव हैं, साथ ही 52 ग्राम पंचायतों में सरपंच भी आदिवासी समाज से आते हैं। समस्त सामाजिक जनप्रतिनिधियों युवाओं ने आगामी विधानसभा चुनाव में सिवनी मालवा विधानसभा को अनुसूचित जनजाति आरक्षित करने की मांग की है।

इस अवसर पर प्रदेश स्तर पर युवा परिचय सम्मेलन कराने पर विचार विमर्श किया। साथ ही भगवान विरसा मुंडा (Bhagwan Virsa Munda) प्रदेश स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता कराने पर सभी युवाओं से सुझाव लिए गए। समाज के युवा आकाश कुशराम (Akash Kushram) ने बताया कि इटारसी (Itarsi) तहसील से लगे ग्रामीण क्षेत्रों के युवा सामाजिक लीडर एवं स्टार्टअप्स ने अपनी भूमिका निभाई। रोजगार में आदिवासी अपनी क्या हिस्सेदारी रख सकते हैं, इस विषय पर भी जियालाल मर्सकोले (Jiyalal Marskole) एवं पंकज ककोडिय़ा (Pankaj Kakodiya) ने मार्गदर्शन किया।

यूथ लीडरशिप को आदिवासी क्षेत्रों में कैसे डेवलप करें, हाल ही में हुए नगरीय निकाय चुनाव में यूथ लीडरशिप देखने को मिली। युवा पार्षद राहुल प्रधान (Rahul Pradhan) ने नेतृत्व शैली को बारीकी से समझाया। जनपद सदस्य विजय कावरे (Vijay Kavre) ने कहा कि खेल के क्षेत्रों में हमारे युवा साथी उच्चतम प्रदर्शन से आदिवासी समाज का गौरव बढ़ायें, साथ ही खेलों में ओर सक्रियता से प्रयासरत रहें और नशे से दूरी बनाएं।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!