खाद-बीज दुकानों का निरीक्षण जारी

होशंगाबाद। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने शासन के आदेश शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के अनुरूप जिले में खाद, बीज दुकानो का सतत निरीक्षण करने के लिए दल गठित किया है। गठित दल ने 15 नवंबर से जिले की खाद, बीज दुकानों का सतत औचक निरीक्षण किया है। उप संचालक कृषि जितेन्द्र सिंह ने बताया है कि दल ने उर्वरक, बीज व कीटनाशी दवाएं विक्रय केन्द्रों के निरीक्षण में 24 उर्वरक विक्रय केन्द्रों, 12 बीज विक्रय केन्द्रों एवं 18 कीटनाशक दवाओं की दुकानों की जांच की है। निरीक्षण में उर्वरक के 2, बीज के 3 एवं 8 कीटनाशी विक्रेताओं के रिकार्ड व भंडारण अव्यवस्थित पाये जाने पर कारण बताओ सूचना पत्र जारी किये हैं। निरीक्षण के दौरान उर्वरक, कीटनशक व बीज विक्रेता केन्द्रो से नमूने लिये जाकर परीक्षण हेतु लेब भेजे जा रहे हैं। बीज के 23 सेंपल परीक्षण हेतु भेजे जा चुके हंै। दल द्वारा निरीक्षण के दौरान अनियमितता पाए जाने पर कीटनाशी अधिनियम 1968, उर्वरक नियंत्रण आदेश 1985 व बीज नियंत्रण आदेश 1966 के प्रावधानो के तहत कार्यवाही की जा रही है। शुद्ध के लिए युद्ध अभियान 30 नवंबर तक चलेगा।
रासायनिक उर्वरकों का संतुलित उपयोग करें : कलेक्टर
कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने जिले के किसानों से अपील की है कि वे रासायनिक उर्वरकों का संतुलित उपयोग करें। कलेक्टर ने इस हेतु उपायुक्त सहकारिता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक एवं कृषि विभाग के मैदानी अमले को निर्देशित किया है कि वे किसानों को जागरूक करें और किसानों को समझाईश दें कि उर्वरकों का संतुलित उपयोग नहीं करने से जहां फसलों की पैदावार में कमी होती है, वहीं इसका प्रभाव पर्यावरण, भूमि की उर्वरा शक्ति, भूमि में उपलब्ध लाभकारी सूक्ष्म जीवों पर पड़ता है। मैदानी अमले से कहा है कि वे किसानों को उर्वरकों के असंतुलित उपयोग से होने वाली हानियों से अवगत कराए और किसानों को उर्वरक का कितनी मात्रा में उपयोग किया जाना चाहिए जैसी अन्य उपयोगी सलाह देकर जागरूक बनाने में वांछित सहयोग करें। कलेक्टर ने रबी सीजन की बोनी हेतु बेसल डोस के लिए फोस्फेटिक एवं पोटाशिक (डीएपी/काम्प्लेक्स) उर्वरकों का उठाव किसान समय पर करें यह सुनिश्चित करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये हैं।

CATEGORIES
Share This
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: