शुक्रवार, जून 21, 2024

LATEST NEWS

Train Info

बिना बुकिंग पालतू बिल्लियां ले जाना पड़ा महंगा, करीब 8 हजार का जुर्माना

इटारसी। ट्रेन में बिना बुकिंग किये सफाई कर्मचारियों के जरिए छत्रपति शिवाजी टर्मिनस से दिल्ली ले जायी जा रही 8 बिल्लियों को यहां दो सफाई कर्मचारियों के साथ उतारा और रेलवे के कमर्शियल विभाग से विधिवत कार्रवाई करायी। ये बिल्लियां पालतू हैं और नियम अनुसार ट्रेन में ले जायी जा सकती हैं, परंतु ये बिना बुकिंग कराये ले जायी जा रही थीं, अतः रेलवे ने इन पर जुर्माना किया है। आरपीएफ के ऑनड्यूटी स्कॉड आरक्षक लालू चौधरी ने जांच के दौरान 01057 पठानकोट एक्सप्रेस के कोच बी-3 में 8 पालूत बिल्लियों को प्लास्टिक की बास्केट में बिना बुक रखे होने की जानकारी अपने उच्च अधिकारियों को दी।
आरपीएफ ने वन विभाग को सूचना दी तो वन विभाग की टीम से सतीष व अमित शुक्ला और आरपीएफ पोस्ट के उपनिरीक्षक अजीत सिंह ने मौके पर पहुंचकर बिल्लियों के साथ दोनों सफाई कर्मचारियों को उतारा और पूछताछ की। वन विभाग ने स्पष्ट कर दिया कि ये विदेषी नस्ल की नहीं बल्कि देसी ही पालतू बिल्लियां हैं जो बाजार में बिकती हैं। वन विभाग इन पर कोई कार्रवाई नहीं कर सकता है। लेकिन, यह बिना बुकिंग ले जायी जा रही थीं, इसलिए दोनों कर्मचारियों को उतारा गया और रेलवे के कमर्षियल विभाग को सौंपा गया। कमर्शियल विभाग ने इन पर लगभग 8 हजार रुपए का जुर्माना किया है।

पैसे देकर बिना बुकिंग दिल्ली भेजी जा रही थीं
पूछताछ में यह सामने आया है कि मुंबई से दिल्ली में डिलीवर करने के लिए किसी ने इनको बुक करने की अपेक्षा सफाई कर्मचारियों को थोड़ा पैसा देकर दिल्ली में किसी को देने के लिए ये बास्केट दी थीं। सफाई कर्मचारी जरा से लालच में आ गये और ये बिल्लियां ले लीं। अब इन सफाई कर्मचारियों की फर्म को इनके इस तरह के अनाधिकृत कार्य करने की जानकारी भेजी जा रही है। आरपीएफ पोस्ट इंचार्ज इंस्पेक्टर देवेन्द्र कुमार का कहना है कि ये बिल्लियां ले जाने का कोई अपराध नहीं है बल्कि बिना बुकिंग ले जाने का अपराध है। इस पर कमर्शियल को सौंपकर जो रेलवे एक्ट के अंतर्गत जुर्माना होता है, वह कराया गया है। सफाई कर्मचारियों के इस तरह के अनाधिकृत कार्य की जानकारी इनकी संस्था को भेजी जाएगी जिनके लिए ये सफाई कर्मचारी कार्यरत हैं।

Rashtra Bharti

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

MP Tourism

error: Content is protected !!