शुक्रवार, जून 21, 2024

LATEST NEWS

Train Info

बच्चे पढ़ेंगे, डीईओ देखेंगे स्कूल गलत है या नहीं

– अभावि नेताओं ने की रॉयल ट्रिनिटी स्कूल में तालाबंदी

इटारसी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (All India Student Council) ने आज सुबह मालवीयगंज में संचालित रॉयल ट्रिनिटी स्कूल के मेन गेट पर ताला लगाकर स्कूल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की। छात्र नेताओं का आरोप था कि स्कूल की कक्षा 1 से 8 तक मान्यता समाप्त होने के बाद भी स्कूल संचालित कर बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है।

इस दौरान अपने बच्चों को स्कूल छोडऩे आये पालकों से भी छात्र नेताओं की तीखी बहस हुई। पालकों का कहना था कि हम अपने बच्चों को स्कूल में पढ़ा रहे हैं, हमें स्कूल से कोई शिकायत नहीं है। छात्र नेताओं का कहना था कि मान्यता समाप्त होने के बाद भी अधिकारियों की मिलीभगत से स्कूल संचालित हो रहा है।

– अफसरों ने पहुंचकर मामला शांत कराया, स्कूल खुलेगा

सूचना मिलने पर पहले तहसीलदार राजीव कहार मौके पर पहुंचे और छात्र नेताओं से बातचीत की। जब छात्र नेता नहीं माने तो एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी (SDM Madan Singh Raghuvanshi) भी पहुंचे। श्री रघुवंशी के सामने छात्र नेताओं ने जिला शिक्षा अधिकारी (District Education Officer) को बुलाने की मांग रखी।

जिला शिक्षा अधिकारी (District Education Officer) को बुलाने के बाद उनके समक्ष मांग रखी गयी। छात्र नेताओं, प्रशासन और जिला शिक्षा अधिकारी (District Education Officer) के मध्य बातचीत हुई। एसडीएम श्री रघुवंशी ने कहा कि स्कूल की जो मान्यता खत्म हुई थी, उन बच्चों को शाला परिसर में ही एक अन्य एमपी बोड के स्कूल में पढ़ाया जा रहा है।

पालक अपने बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं, बच्चों को नहीं रोका जाए। रही बात मान्यता समाप्त होने और नियम विरुद्ध होने की तो उसकी जांच जिला शिक्षा अधिकारी (District Education Officer) करेंगे और जो भी विधिवत कार्रवाई होगी, वह की जाएगी।

पूर्व में बता दिया था

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेताओं का कहना है कि पूर्व में अनुविभागीय अधिकारी को ज्ञापन के माध्यम से बता दिया था कि रॉयल्टी मिटी स्कूल की मान्यता रद्द होने के बाद भी स्कूल संचालित हो रहा है, उचित कार्यवाही की मांग की थी परंतु कार्यवाही ना होने पर आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा रॉयल त्रिनिटी स्कूल में तालाबंदी कर आंदोलन किया।

जिला शिक्षा अधिकारी से मांग की गई के छात्र हित में निर्णय लिया जाए एवं स्कूल के विद्यार्थियों को दूसरे संस्थान में एडमिशन दिलाया जाए जिसका सारा खर्चा रॉयल ट्रिनिटी संस्थान द्वारा दिया जाए।

Rashtra Bharti

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

MP Tourism

error: Content is protected !!