श्री आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर में भव्य स्वर्ण वेदी प्रतिष्ठा

श्री आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर में भव्य स्वर्ण वेदी प्रतिष्ठा

इटारसी। जैन मुनि को देख लो, त्याग करना सीख लो। इस बात के नारे लगाते हुए प्रात: 8 बजे कड़कड़ाती ठंड, कोहरे के बीच जैन समाज की घट यात्रा प्रारंभ हुई। घट यात्रा का मुख्य आकर्षण की सभी श्रावक जहां ठंड से बचने के उपाय कर रहे थे, वहीं जैन संत परम पूज्य निर्णय सागर और परम पूज्य सुवीर सागर महाराज दिगंबर अवस्था में श्री पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर से कावेरी स्टेट दिगंबर जैन मंदिर की ओर विहार कर रहे थे।

पूर्ण भक्ति भाव के साथ समाज की महिलाएं केसरिया वस्त्र में शुद्ध जल को कलश में भरकर घट यात्रा के रूप में श्री आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर पहुंची, जहां पर नवनिर्मित स्वर्ण वेदी की शुद्धि का कार्यक्रम, बाल ब्रह्मचारी सुमित भैया, भोपाल के निर्देशन में हुआ एवं मुख्य पात्रों का चयन हुआ। वेदी प्रतिष्ठा कार्यक्रम के मुख्य पात्र सौधर्म इंद्र श्रीमती दिव्या दीपक जैन एडवोकेट, कुबेर इंद्र श्रीमती अनिता अरविंद गोयल, महायज्ञ नायक डॉ सौरभ जैन, निर्मल कुमार जैन बीना, ईशान इंद्र रमेश-नीरज जैन, सनद इंद्र सुरेंद्र कुमार मुकेश कुमार जैन, महेंद्र इंद्र प्रवीण कुमार, राजकुमार पटवा रहे। ध्वजारोहण सुश्री चित्रा जैन, रेखा जैन, अरविंद कुमार जैन एडवोकेट ने किया। नवीन बेदी अनावरण विनोद कुमार प्रमोद कुमार, नवीन बेदी पर विनायक यंत्र स्थापना श्रीमती नीतू आनंद कुमार जैन, मंगल कलश स्थापना, श्रीमती कीर्ति सुनील बैशाखिया, जिनवाणी स्थापना श्रीमती संगीता सुधीर जैन एवं श्रीमती प्रियंका सौरभ जैन, दीप स्थापना श्रीमती साधना संजय जैन गुड्डू एवं स्वर्ण सौभाग्यवती श्रीमती धरती जैन एवं श्रीमती रेणु जैन ने किया।

इस मौके पर गुरुवर ने समाज को संबोधित करते हुए कहा कि यह इटारसी शहर का सौभाग्य है कि मेरे चातुर्मास के दौरान आप लोगों ने इतनी धर्म की प्रभावना की। इटारसी शहर में एक अद्भुत संस्कार शिविर का आयोजन किया, तो वहीं नवीन जिनालय एलकेजी में महावीर जिनालय का निर्माण हुआ और आज श्री आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर में भव्य स्वर्ण वेदी प्रतिष्ठा का कार्यक्रम हम कर रहे है। रात्रि में पाठशाला के बच्चों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं एक नाटिका का मंचन किया। श्री आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर के अध्यक्ष दीपक जैन ने बताया की कार्यक्रम की श्रृंखला में कल प्रात: 8 बजे विश्व शांति के लिए, आपसी भाईचारे के लिए, समाज में सद्भावना और एकता के लिए याग मंडल विधान का आयोजन किया गया है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!