जाने कैसे बनी गीता गोपीनाथ मुख्य अर्थशास्त्री जाने सम्‍पूर्ण जानकारी…
कौन हैं गीता गोपीनाथ, गीता गोपीनाथ प्रारंभिक शिक्षा, विवाहिक जीवन, IMF यह होगी गीता की जिम्मेदारी चीफ सम्‍पूर्ण जीवन परिचय Full Details in Hindi...

जाने कैसे बनी गीता गोपीनाथ मुख्य अर्थशास्त्री जाने सम्‍पूर्ण जानकारी…

कौन हैं गीता गोपीनाथ, गीता गोपीनाथ प्रारंभिक शिक्षा, विवाहिक जीवन, IMF यह होगी गीता की जिम्मेदारी जाने सम्‍पूर्ण जीवन परिचय…

गीता गोपीनाथ का जीवन परिचय (Geeta Gopinath Biography)

गीता गोपीनाथ

नाम गीता गोपीनाथ
जन्म 8 दिसंबर 1971
जन्म स्थान मैसूर, कर्नाटक
पिता का नाम टी.वी.गोपीनाथ
माता का नाम विजयालक्ष्मी गोपीनाथ
पति का नाम इकबाल धालीवाल
पेशा भारतीय अमेरिकी अर्थशास्त्री
अवार्ड यंग ग्लोबल लीडर

कौन हैं गीता गोपीनाथ (Who is Gita Gopinath)

गीता गोपीनाथ

गीता गोपीनाथ इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की मुख्य अर्थशास्त्री चीफ इकोनॉमिस्ट हैं। साथ ही गीता गोपीनाथ को इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (IMF) के अनुसंधान विभाग की निदेशक की जिम्मेदारी 1 जनवरी 2019 को उन्हें सौंपी गई हैं। आईएमएफ में इस पद को संभालने वाली यह पहली भारतीय महिला हैं।

क्या हैं आईएमएफ (What Are IMF)

गीता गोपीनाथ

इंटरनेशनल मोनेटरी फंड (IMF) की शुरुआत 27 दिसंबर 1945 को हुई। यह एक अंतरराष्ट्रीय संस्था हैं और इसका हेडक्वाटर वाशिंगटन डीसी मे हैं।  आईएमएफ का काम अपने सदस्य देशों की स्थिति पर नजर रखता हैं आईएमएफ के अभी तक कुल 186 सदस्य देश हैं। आईएमएफ सदस्य देशों की आर्थिक स्थिरता सुरक्षित करना, आर्थिक प्रगति को बढ़ावा देना, गरीबी कम करना, रोजगार को बढ़ावा देना और अंतरराष्ट्रीय व्यापार सुविधाजनक बनाने मे अपना योगदान देता हैं।

यह होगी गीता गोपीनाथ की जिम्मेदारी (This will Be The Responsibility of Geeta)

गीता गोपीनाथ

गीता को आईएमएफ के जिस विभाग का डायरेक्‍टर बनाया गया हैं उसका संस्था में काफी अहम रोल हैं। आईएमएफ का रिसर्च डिपार्टमेंट दुनिया की अर्थव्‍यवस्‍थाओं पर अध्‍ययन कर सदस्‍य देशों के लिए जरूरी नीतियाेे को  तैयार करता हैं साथ ही उन मुद्दों पर रिसर्च करता हैं जो आईएमएफ के लिए बहुत जरूरी होते हैं। इसके अलावा यह अनुमान लगाना भी आईएमएफ का ही काम हैं कि दुनिया की अर्थव्‍यवस्‍था  में आने वाले वर्षों में कैसी होगी।

गीता गोपीनाथ प्रारंभिक शिक्षा (Geeta Gopinath Elementary Education)

गीता गोपीनाथ

गीता गोपीनाथ की शुरुआती पढ़ाई कर्नाटक के मैसूर में स्थित निर्मला कान्वेंट स्कूल से हुई थी। और ग्रेजुएशन की डिग्री उन्‍होनें दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज से हासिल की हैं। और पोस्ट ग्रेजुएशन उन्‍होंने यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन से पूरा किया। इसके बाद उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो और हावर्ड यूनिवर्सिटी में इंटरनेशनल रिलेशंस एंड इकोनॉमिक्स कि लेक्चर लिए और वहां की प्रोफ़ेसर बन गई।

इसके बाद इन्‍होने वर्ष 2001 प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से पीएचडी की डिग्री हासिल की। इसके अलावा गीता गोपीनाथ भारतीय वित्त मंत्रालय के G-20 सलाहकार समिति की एक सदस्य भी रही हैं।

गीता गोपीनाथ का करियर (Gita Gopinath Career)

गीता गोपीनाथ

गीता गोपीनाथ पहली नियुक्ति वर्ष 2001 में शिकागो यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर गई इसके बाद वर्ष  2005 में गीता हार्वर्ड यूनिवर्सिटी पहुंची और वर्ष 2010 में यहां गीता गोपीनाथ फुल टाइम प्रोफेसर बनीं। साथ ही गीता गोपी‍नाथ अमेरिकन इकोनॉमिक रिव्यू की को-एडीटर भी हैं। वह नेशनल ब्यूरो ऑफ इकोनॉमिक रिसर्च (NBER) में इंटरनेशनल फाइनेंस एंड माइक्रो-इकोनॉमिक्स प्रोग्राम की भी को-डायरेक्टर भी रह चुकी हैं।

IMF के पूर्व इकोनॉमिक काउंसल केनेथ रोगॉफ के साथ मिलकर इन्होंने इंटरनेशनल इकोनॉमिक्स की हैंडबुक भी लिखी हैं। IMF के जिस विभाग में गीता डायरेक्टर बनी हैं उसमें उनका रोल काफी महत्‍वपूर्ण हैं और इसके रिसर्च डिपार्टमेंट में दुनियाभर के रिसर्च होते हैं इसके साथ ही उन मुद्दों पर भी रिसर्च होता हैं जो IMF के लिए जरूरी होते हैं।

गीता रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पूर्व गर्वनर रघुराम राजन के बाद दूसरी भारतीय हैं जिन्हें इस विभाग में यह जिम्मेदारी दी गई हैं। गीता गोपीनाथ ने इंटरनेशनल वित्तीय संकट, कर्ज, बाजार की समस्याओं, व्यापार में निवेश जैसे करीब 40 रिसर्च लेख लिखने की उपलब्धि प्राप्त हैं। गीता भारत के केरल राज्य मे मुख्यमंत्री की इकोनॉमी एडवाइजर के तौर पर भी काम करती हैं।

गीता गोपीनाथ विवाहिक जीवन (Geeta Gopinath Married Life)

गीता गोपीनाथ

गीता गोपीनाथ उनके पति का नाम इकबाल धालीवाल हैं इकबाल भी भारतीय हैं और वह इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएशन कर चुके हैं। इकबाल यूपीएससी  संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास कर चुके हैं।  वह 1995 की बैच के टॉपर  थे।

इसके अलावा भी वे काफी समय तक आईएएस ऑफिसर के पद पर रहे। लेकिन उन्होंने अपनी पढ़ाई को जारी रखते हुए इस नौकरी को छोड़ दिया और आगे की पढ़ाई के लिए प्रिंसटन यूनिवर्सिटी चले गए। फिलहाल गीता अपने पति के साथ कैंब्रिज में रहती हैं इनका एक बेटा भी हैं।

गीता गोपीनाथ को प्राप्त पुरस्कार (Award Rceived By Gita Gopinath)

गीता गोपीनाथ

  • वर्ष 2011 में गीता को  विश्व आर्थिक मंच द्वारा एक युवा वैश्विक नेता के रूप में चुना गया था।
  • वर्ष 2017 में गीता को विश्वविद्यालय से विशिष्ट पूर्व छात्र पुरस्कार मिला था।
  • वर्ष 2018 में गीता  को अमेरिकन एकेडमी ऑफ आर्ट्स एंड साइंसेज और द इकोनोमेट्रिक सोसाइटी का फेलो चुना गया था।
  • अक्टूबर 2018 में गीता को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्ड ने गीता गोपीनाथ को आईएमएफ के अनुसंधान विभाग के आर्थिक सलाहकार और निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था।
  • वर्ष 2019 में गीता को विदेश नीति में शीर्ष वैश्विक विचारकों में से एक नामित किया गया था।
  • वर्ष 2019 में गीता को भारत सरकार द्वारा प्रवासी भारतीय सम्मान से सम्मानित किया गया हैं।

जाने कैसे अवनि चतुर्वेदी देश की पहली महिला फाइटर पायलट जाने सम्‍पूर्ण जानकारी… 

भारत के बारे में गीता के विचार (Gita Gopinath thought on India)

गीता गोपीनाथ

गीता भारत की इकोनॉमी के बारे में उत्साहवर्धक विचार रखती हैं उन्हें भारत की इकोनॉमी में बहुत संभावनाएं दिखती हैं, उनका कहना है कि यदि भारत लगातार तीन वर्षों तक 9% की दर से ग्रोथ करता हैं तो वह 5 ट्रिलियन की इकोनॉमी बन सकता हैं। भारत के 5 ट्रिलियन की इकोनॉमी बनना भारत की इकोनॉमी में रूचि रखने वालों के लिए एक महत्वपूर्ण हैं।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!