राज्य शिक्षा सेवा में नियुक्त अध्यापक कर्मचारियों का आंदोलन 20 अगस्त से

राज्य शिक्षा सेवा में नियुक्त अध्यापक कर्मचारियों का आंदोलन 20 अगस्त से

सिवनी मालवा। राज्यशिक्षा सेवा (State Education Service) में नियुक्त हुए अध्यापकों का आंदोलन 20 अगस्त 2023 से भोपाल (Bhopal) में होगा। प्रदेश के पांच शिक्षक संगठनों ने संयुक्त मोर्चा बनाया है। इस मोर्चे में शासकीय शिक्षक संगठन (Government Teachers Association), आजाद अध्यापक शिक्षक संघ (Azad Teachers Teachers Association), राज्य शिक्षक संघ (State Teachers Association), प्रांतीय शिक्षक संघ (Provincial Teachers Association) तथा राज्य शिक्षक कांग्रेस (State Teachers Congress) शामिल हैं।

प्रदेश के 5 शिक्षक संगठनों ने मध्य प्रदेश के समस्त संभागीय मुख्यालयों पर अधिवेशन कर के शिक्षकों को जागरूक किया तथा अपनी मांगों के संबंध में दोहराया। पिछले सप्ताह इसी क्रम के अंतर्गत सबसे आखिरी अधिवेशन भोपाल संभाग न्यू मार्केट समन्वय भवन (New Market Coordination Building) में हुआ। इसमें प्रदेश के शिक्षकों ने आरपार की लड़ाई का ऐलान करते हुए सरकार को मांगें पूरी करने के लिए 14 दिन का अल्टीमेटम (Ultimatum) दिया था, परंतु शासन की ओर से न्यायोचित मांगों का निराकरण नहीं किया।

मध्यप्रदेश शासकीय शिक्षक संगठन के प्रांतीय उपाध्यक्ष राम मोहन रघुवंशी ने बताया कि सेवा अवधि की गणना प्रथम नियुक्ति दिनांक से करने, क्रमोन्नति, पदोन्नति, अनुकंपा नियमों में शिथलीकरण, स्कूल शिक्षा विभाग एवं आदिम जाति कल्याण विभाग को आपस में मर्ज करने, वेतनमान की विसंगतियों का निराकरण, प्रथम नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता के साथ पुरानी पेंशन लागू करने सहित अन्य मांगे शामिल हैं। जिन पांच शिक्षक संगठनों ने संयुक्त मोर्चा बनाया है। उनमें राकेश दुबे, भरत पटेल, मनोहर दुबे, जगदीश यादव, राकेश नायक शामिल हैं।

मध्य प्रदेश शासकीय शिक्षक संगठन के संभागीय अध्यक्ष राजेश पांडे, जिला अध्यक्ष महेश विश्वकर्मा, राकेश साहू, हरी परेवा, राकेश पवार शिव शंकर चौधरी राजेश कुमार देवडिय़ा, भागीरथ योगी ने सफल बनाने की अपील की है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!