गुरूवार, मई 30, 2024

LATEST NEWS

Related Posts

एसी कोच से कंबल चुराने वाले कोच अटेंडर आरपीएफ के हत्थे चढ़े

इटारसी। अहमदाबाद एक्सप्रेस ट्रेन के एसी कोच में यात्रियों को दिए जाने वाले कंबल और चादर चुराने वाले दो कोच अटेंडर आरपीएफ के हत्थे चढ़े हैं। इनका कहना है कि तीन माह से कंपनी ने वेतन नहीं दिया तो वे इसकी भरपायी के लिए कंबल बेचने ले जा रहे थे, इस दौरान आरपीएफ के हत्थे चढ़ गये।

मिली जानकारी के अनुसार 12 जनवरी को जनरल ड्यूटी के दौरान आरक्षक आरिफ खान एवं सुरेन्द्र उइके स्टेशन के पुराने फुट ओव्हर ब्रिज पर गश्त कर रहे थे, तभी दो संदिग्ध व्यक्ति हाथ में रेलवे के कंबल-चादर ले जाते दिखे। दोनों से पूछताछ की तो पता चला कि इन्होंने ट्रेन से ये चादर और कंबल चुराये हैं। मामले में कुलदीप पुत्र उदय सिंह 25 वर्ष, निवासी भिवानी हरियाणा और जावेद पुत्र प्रेम 19 वर्ष, निवासी हजारीबाग अजमेर राजस्थान ने बताया कि वे दोनों 11 जनवरी को गाड़ी नं. 19484 अहमदाबाद एक्सप्रेस के एसी कोच बी-4 एवं बी-1 में कोच अटेंडेट के रूप में ड्यूटी पर तैनात थे, गाड़ी के भोपाल स्टेशन से निकलने के बाद दोनों ने नीले रंग के प्लास्टिक के अलग-अलग थैले में रेलवे की 1 नग सफेद चादर व 22 नग कंबल चुराकर बेचने के लिए इटारसी स्टेशन से बाहर जा रहे थे, तभी आरपीएफ ने पूछताछ में उन्हें पकड़ लिया।

दोनों कोच अटेंडेंट के पास रखे थैलों से रेलवे की 1 सफेद चादर व 22 नग कंबल बरामद किए गए। आरोपियों ने बताया कि वे ट्रेनों में एसी कोच अटेंडेंट का काम करते हैं, जिस कंपनी में वे काम करते हैं, कंपनी से उन्हें तीन माह से वेतन नहीं मिला। इस बात से नाराज होकर दोनों युवकों ने ट्रेनों में रखे जाने वाले रेलवे के कंबल चादर चोरी किये और इन्हें बेचकर वह नुकसान की भरपाई करना चाह रहे थे। आरपीएफ पोस्ट इंचार्ज देवेन्द्र कुमार के अनुसार दोनों के खिलाफ रेल संपत्ति अवैध कब्जा अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया है। इस मामले की जांच की जा रही है, अटेंडर तैनात करने वाली कंपनी से भी आरपीएफ पूछताछ कर सकती है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

TECHNOLOGY

error: Content is protected !!