इटारसी के इतिहास का प्रकाशन श्रीमती शांति देवी महादेव पगारे स्मृति समिति करेगी

इटारसी के इतिहास का प्रकाशन श्रीमती शांति देवी महादेव पगारे स्मृति समिति करेगी

इटारसी। इटारसी (Itarsi) शहर का प्रथम इतिहास सन 2012 में संदर्भ इटारसी के नाम से प्रकाशित किया गया था इस इतिहास के लेखक विपिन जोशी (Vipin Joshi) परंपरा के कवि वरिष्ठ साहित्यकार स्वर्गीय नत्थू सिंह चौहान थे। इस इतिहास का प्रकाशन श्रीमती शांति देवी महादेव पगारे समिति के द्वारा किया गया था।

किसी भी शहर का इतिहास उसका एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है राज्य की सरकार ने 1980 के बाद जिला गजेटियर का प्रकाशन बंद कर दिया है महाविद्यालय के उन शोधार्थियों एवं पीएचडी करने वाले छात्र छात्राओं के लिए किसी भी शहर अथवा जिले का संकलन जो इतिहास के रूप में हो महत्वपूर्ण हो जाता है जिनको इतिहास के संबंध में कार्य करना हो।

श्रीमती शांति देवी महादेव पगारे स्मृति समिति के अध्यक्ष प्रमोद पगारे ने बताया कि उन्होंने कई बार प्रयास किए कि शहर के इतिहास के लेखन के लिए कोई आगे आए परंतु सारे प्रयास विफल हुए पगारे ने कहा कि अब उन्होंने स्वयं यह निर्णय लिया है इटारसी के इतिहास का लेखन वे सभी के सहयोग से पूर्ण करेंगे उन्होंने नागरिकों पत्रकारों साहित्यकारों एवं छात्र छात्राओं से अनुरोध किया है कि इटारसी शहर के संबंध में जानकारी एकत्रित करें और समिति को ईमेल अथवा व्हाट्सएप पर अथवा हार्ड कॉपी में उपलब्ध कराएं।

इटारसी नगर का प्राचीन इतिहास वर्तमान समय विकास की उपलब्धियां महत्वपूर्ण संस्थान औद्योगिक क्षेत्र विभिन्न सामाजिक संगठन विभिन्न धार्मिक संगठन एवं मठ मंदिर गुरुद्वारे इबादत घर प्रेयर घर खेलकूद की गतिविधियां सभी प्रकार की एवं शिक्षा के क्षेत्र में हुए कार्य जिसमें तकनीकी शिक्षा भी शामिल है चिकित्सा सुविधा निजी एवं सरकारी इसके अलावा शहर में बनी विभिन्न कालोनियों नई एवं पुरानी शहर की रामलीला एवं दशहरा ईद उल फितर मोहम्मद साहब का जन्मदिन गुरु नानक देव जी का जन्मदिन महर्षि बाल्मीकि का जन्मदिन, भगवान महावीर स्वामी का जन्मदिन तारण तरण जयंती महोत्सव निषादराज जयंती महोत्सव परशुराम जयंती महोत्सव हनुमान जयंती महोत्सव साईं बाबा की पालकी यह कुछ उदाहरण है विद्युत व्यवस्था साफ सफाई, नगर पालिका के कार्य ,नगर पालिका की आय सहित शहर के समस्त विकास कार्यों को लेकर सकारात्मक रूप में इटारसी का इतिहास प्रकाशित किया जाना है। संबंधित व्यक्ति संस्थाएं छात्र-छात्राएं जो इच्छुक हो वह शहर के विकास से संबंधित प्राचीन एवं नवीनतम जानकारी ई मेल pramod_pagare@rediffmail.com पर अथवा 94250 44714 पर भेज सकते हैं। जानकारी हेतु इसी नंबर पर संपर्क भी कर सकते हैं। समस्त जानकारी देने के लिए 30 जून अंतिम तिथि है

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!