भारत में मौत का दूसरा सबसे बड़ा कारण आघात या स्ट्रोक

नई दिल्ली। भारत में मौत का दूसरा सबसे बड़ा कारण आघात या स्ट्रोक है। देश में हर चार मिनट में इससे एक मौत हो जाती है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर सर गंगा राम अस्पताल में आयोजित एक व्याख्यान में न्यूरोलॉजिस्ट एमवी पद्मा श्रीवास्तव ने कहा कि आघात भारत में मौत का दूसरा सबसे आम कारण है और देश में हर चार मिनट में इससे एक व्यक्ति की मौत होती है। पद्मा श्रीवास्तव ने कहा कि स्ट्रोक के 68.6 प्रतिशत मामले और इससे मौत के 70.9 प्रतिशत मामले भारत में सामने आते हैं।

न्यूरोलॉजिस्ट श्रीवास्तव ने कहा कि जब मस्तिष्क में कोई ब्लड वैसल फट जाती है तो उससे खून बहने लगता है या ब्रेन को खून की आपूर्ति में रुकावट आती है तो स्ट्रोक की समस्या होती है। भारत में हर साल आघात के लगभग 1,85,000 मामले सामने आते हैं, हर 40 सैकंड में आघात का लगभग एक मामला सामने आता है और हर चार मिनट में यह बीमारी एक व्यक्ति की जान लेती है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!