मेहरागांव निवासी विवाहिता की ससुराल छिंदवाड़ा में संदिग्ध मौत

मेहरागांव निवासी विवाहिता की ससुराल छिंदवाड़ा में संदिग्ध मौत

इटारसी। मेहरागांव सी (C Cabin) केबिन निवासी एक नवविवाहिता की उसकी ससुराल छिंदवाड़ा (Chhindwara) में संदिग्ध हालत में मौत हो गई। मृतका के पति का कहना है कि विवाहिता ने फांसी लगाई है, लेकिन मायके पक्ष ने दहेज न देने को लेकर हुए विवाद में बेटी की हत्या करने का आरोप पति पर लगाया है।

छिंदवाड़ा पुलिस मामले की जांच कर रही है, प्रकरण में फिलहाल पति पर प्रकरण दर्ज किया गया है। मेहरागांव सी केबिन निवासी रेलकर्मी संजय हनोतिया (Sanjay Hanotia) ने बताया कि उनकी छोटी बहन अंजू हनोतिया (Anju Hanotia) का छिंदवाड़ा निवासी तरुण मेहरा (Tarun Mehra) से प्रेम प्रसंग था। छह साल से वह मोबाइल पर संपर्क में थी। तरुण छह साल से शादी नहीं कर रहा था, हमने दबाव बनाया, इसके बाद जून माह में शादी पर राजी हो गया। जून माह में हमने इटारसी (Itarsi) की साईं की बगिया गार्डन (Sai Ki Bagiya Garden) से उसकी शादी की, शादी के पहले रुपये न होने की बात तरुण ने कही, इसके बाद उसके स्वजनों ने लगुन एवं विवाह में दो लाख रुपये खाते में डाले।

विवाह की रात में भी वह नशे में था, फोटो खिंचवाने की बात पर उसके साथ आए बरातियों एवं दूल्हे ने शादी से इनकार कर दिया, वह कार मांग रहा था। यह सुनकर उनकी बहन बीमार हो गई, जिसे शादी की रात में ही अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। किसी तरह समझाइश देकर विवाह हो गया। इसके बाद पहली विदाई में उसने अंजू को मायके नहीं छोड़ा, 20 दिन बाद वह बमुश्किल घर आई, इसके बाद ससुराल चली गई। संजय ने दशहरे पर नई बाइक ली थी, इसकी जानकारी देने उसने दहशरे पर बहन को फोन लगाया, तब वह रोने लगी, दशहरे के दूसरे दिन तरुण ने फोन पर बताया कि तुम्हारी बहन ने फांसी लगा ली है,

अस्पताल में मौत होने पर उन्हें खबर दी गई। मायके पक्ष का आरोप है कि तरुण और उसकी मां ने दहेज के विवाह में प्रताडऩा देकर उनकी बहन की हत्या की है, परिजनों के छिंदवाड़ा पहुंचने पर पुलिस ने ससुराल पक्ष पर प्रकरण दर्ज किया है, लेकिन परिजनों का कहना है कि उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज हो। संजय ने बताया कि तरुण की पारिवारिक पृष्ठभूमि ठीक नहीं है, वह बेरोजगार है, उसने बहन को प्रेम जाल में फंसाकर रखा था।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!