बुधवार, जून 19, 2024

LATEST NEWS

Train Info

चचेरे भाई ने दुकान का ताला खोलकर लाखों रुपये के सोने के आभूषण और नगदी उड़ाये

इटारसी। शहर के बंगाली कालोनी (Bengali Colony) में रहने वाले मनोज स्वर्णकार (Manoj Swarnkar) की सराफा बाजार स्थित सोने के आभूषण बनाने वाली दुकान में चोरी करने वाला उसका चचेरे भाई प्रबीन निकला।आरोपी ने अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर 10 लाख 52000 हजार रुपये की चोरी की घटना को अंजाम दिया।घटना के 24 घंटे के भीतर सिटी पुलिस ने चारों आरोपियों को चोरी के आभूषण एवं 48000 रुपये नगद के साथ गिरफ्तार किया है। टीआई गौरव सिंह बुंदेला (TI Gaurav Singh Bundela) ने बताया कि घटना की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। उन्ही के कुशल निर्देश पर घटना की बारीकी से जांच शुरू की गई। सिटी थाने (City Police Station) की अनुभवी टीम को चोरी के आरोपियों की तलाश करने के लिये जिम्मेदारी सौपी गई।

घटना के महत्वपूर्ण बिन्दुओ पर गभीरता से ध्यान देते हुये पुलिस (Police) ने जांच शुरू की।आखिरकार घटना के 24 घण्टे के भीतर ही टीम को सफलता मिली और घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों को पुलिस ने खोज निकाला। आरोपियों के पास से पुलिस ने 140 ग्राम सोने के आभूषण जिसको कीमत 10 लाख रुपये है और 48000 हजार रुपये नगद बरामद किये हैं तीन हजार आरोपियों ने खर्च कर दिए। घटना का मुख्य आरोपी प्रबीन है जो फरियादी मनोज का चचेरा भाई है।जिसने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर चोरी की घटना को अंजाम दिया है। आरोपियों प्रबीन (Prabeen) उर्फ लालू पिता तरुण स्वर्णकार (Tarun Swarnkar), रूपेश (Rupesh) उर्फ़ रोहित (Rohit) पिता मनोज दास (Manoj Das) बंगाली निवासी बंगाली कालोनी इटारसी, शिवम् (Shivam) पिता कमलेश चौहान (Kamlesh Chauhan) निवासी नई गरीबी लाइन के साथ एक नाबालिग भी शामिल है। तीनों आरोपियों को इटारसी न्यायालय (Itarsi Court) में और नाबालिक को किशोर न्यायालय नर्मदापुरम (Narmadapuram Court) में पेश किया गया है।

जेब से दुकान की चाबी चोरी कर घटना को अंजाम दिया

टीआई गौरव सिंह बुंदेला ने बताया कि फरियादी का चचेरे भाई आरोपी प्रबीन को पता था कि मनोज पेंट को जेब मे दुकान की चाबी रखता है।उसी का फायदा आरोपी ने उठाया और मौका पाकर रात में फरियादी की छत से घर मे प्रवेश कर जेब से चाबी निकालकर सराफा बाजार पहुँचा, आरोपी ने अपने साथियों के साथ मिलकर दुकान का ताला खोलकर आभूषण एवं नगदी पर हाथ साफ कर पुनः फरियादी की जेब मे छत से जाकर चाबी रख आया।पुलिस ने इस घटना के हर पहलू पर ध्यान देते हुये आरोपियो की तलाश शुरू की।जिसके आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।आरोपियों को गिरफ्तार करने में महत्वपूर्ण भूमिका टीआई गौरव बुंदेला,एएसआई संजय रघुवंशी,प्रधान आरक्षक अशोक चौहान,भागवेन्द्र परिहार,भूपेश मिश्रा,आरक्षक हरीश डिगरसे,राजेश पवांर, सायबर सेल में पदस्थ आरक्षक अभिषेक नरवरिया ,आकाश बारस्कर,जितेंद्र नरवरे,अभिनाशी एवं गजेन्र्द शामिल है।

Rashtra Bharti

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

MP Tourism

error: Content is protected !!