वीरांगना रानी दुर्गावती की गौरव गाथा 22 से 27 जून तक

वीरांगना रानी दुर्गावती की गौरव गाथा 22 से 27 जून तक

नर्मदापुरम। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की प्रमुख जनजाति गोंड हैं, गोंड राजवंश ने 52 गढ़ों के विस्तृत साम्राज्य पर 63 गोंड राजाओं ने 1400 वर्षो तक शासन किया 7 महाराजा संग्राम शाह (Maharaja Sangram Shah) 1510-1543 ई., राजा दलपत शाह (Raja Dalpat Shah) , राजा वीर नारायण (Raja Veer Narayan), रानी दुर्गावती (Rani Durgavati), राजा चन्द्रशाह, राजा हिर्देशाही, राजा निजाम शाही एवं 1857 में अंग्रेजो के विरुद्ध लड़कर शहीद हुए राजा शंकर शाह (Raja Shankar Shah) एवं कुंवर रघुनाथ शाह प्रमुख हैं।

राजा संग्राम शाह के पुत्र राजा दलपत शाह (1543-1550 ई.) से रानी दुर्गावति जन्म 5 अक्टूबर 1524 का विवाह हुआ, इनके पति दलपत शाह की मृत्यु उपरांत रानी दुर्गावती ने 1550 से 1564 तक अपना शासन किया, अकबर के सरदार आसफ़ ख़ान से युद्ध में 24 जून 1564 को रानी दुर्गावती का जबलपुर के नर्रई नाला क्षेत्र में युद्ध में बलिदान हुआ। रानी दुर्गावती को आज भी सर्व सामान्य व गोंड जनजातीय समाज अपनी रानी, रणचंडी, संरक्षिका एवं देवी के रूप में अनन्य श्रद्धा का भाव रखते हैं।
प्रतिवर्ष 24 जून को रानी दुर्गावती का बलिदान दिवस प्रदेश के कई जिलो में श्रद्धा पूर्वक मनाया जाता है। वर्तमान में जितने प्रमुख स्मारक रानी दुर्गावती पर बने है। गोंड बहुल सभी क्षेत्रों में बलिदान दिवस के कार्यक्रम बड़ी संख्या में आयोजित किये जाते हैं।

आगामी 24 जून को भी पूरे प्रदेश में रानी दुर्गावती बलिदान दिवस मनाया जायेगा। चूंकि स्थानीय स्तर पर बलिदान दिवस कार्यक्रम मनाये जाते हैं, इसलिए बलिदान दिवस हेतु समाज द्वारा बड़े कार्यक्रम एक सप्ताह तक आयोजित होते हैं।
रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस में देश के प्रधानमंत्री अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। रानी दुर्गावती की बलिदान गाथा को जन-जन तक पहुंचाने हेतु रानी दुर्गावती बलिदान दिवस गौरव यात्रा का शुभारंभ 22 जून 2023 को बालाघाट (Balaghat) में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के हाथों से होगा। यह यात्रा रानी दुर्गावती के जीवन से जुड़े सभी प्रमुख स्थानों से होकर गुजरेगी एवं इसका समापन 27 जून 2023 को शहडोल (Shahdol) में होगा। बलिदान दिवस कार्यक्रम के समापन में मुख्य अतिथि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) होंगे। यह मध्यप्रदेश के लिए गौरव का अवसर है जिसमें मध्यप्रदेश की गौरव रानी दुर्गावती के बलिदान को स्मरण करने स्वयं प्रधानमंत्री पधार रहे हैं।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!