देर शाम तक कवियों ने बांधा समां, श्रोता हुए भाव विभोर

देर शाम तक कवियों ने बांधा समां, श्रोता हुए भाव विभोर

इटारसी। नर्मदा आव्हान सेवा समिति (Narmada Aawan Sewa Samiti ) ने हिंदी पखवाड़े के अंतर्गत आडिटोरियम इटारसी (Auditorium Itarsi) में कवि समागम एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया। समारोह में देश के विभिन्न अंचलों से आमंत्रित कवि उपस्थित हुए। अंतरराष्ट्रीय कवि प्रो. ओमपाल सिंह निडर के मुख्यातिथि में, पत्रकार संघ के जिलाध्यक्ष प्रमोद पगारे, नपाध्यक्ष पंकज चौरे, वरिष्ठ कवि कौशल सक्सेना, इरफान झ़ांसवी, राजेंद्र मालवीय आलसी,रामकिशोर नाविक, शंकर सहर्ष, दिनेश याज्ञनिक के विशिष्ट अतिथि, वरिष्ठ कवि बीके पटैल की अध्यक्षता में आयोजन प्रारंभ हुआ।
कवि सम्मेलन (Poet Conference) देर शाम तक जारी रहा। देश के विभिन्न अंचलों से आए 70 कवियों ने सैकड़ों श्रोताओं को अपनी कविता, गीत, गजल हास्य, व्यंग्य की रचनाओं से भाव विभोर कर दिया। मुख्यातिथि ओमपाल सिंह निडर ने कहा कि नर्मदा अव्हान सेवा समिति साहित्य के क्षेत्र में सच्चे मनोभाव से सेवा कर रही है। कवियों का निशुल्क पंजीयन अपने आप में अनूठी मिसाल है। नपाध्यक्ष पंकज चौरे ने नगर पालिका के माध्यम से प्रति वर्ष कवि सम्मेलन कराने की घोषणा की। कौशल सक्सेना ने कहा की साहित्यिक के क्षेत्र में शेष उम्र नर्मदा आव्हान सेवा समिति के साहित्यक अनुष्ठानों को मजबूती प्रदान करने में लगाऊंगा।
अध्यक्ष बीके पटेल ने आयोजन की सराहना करते हुए कहा की कवियों-लेखकों के माध्यम से हमारे देश में जागरूकता में तेजी आई है। श्री पगारे ने संयोजक केप्टन करैया को बधाई देते हुए कहा कि ऐसे आयोजन होते रहना चाहिए। राजेंद्र मालवीय आलसी के अलावा अन्य अतिथियों ने संबोधित किया। स्वागत केप्टिन करैया, हंस राय, मनीष ठाकुर, पवन सराठे, एसआर धोटे ने किया। मां सरस्वती की पूजा अर्चना से कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। कवियों का स्मृति चिन्ह एवं साहित्य रत्न सम्मान से सम्मानित किया। सरस्वती वंदन मैहर से आई मधु माधवी की प्रस्तुति की। संचालन दिनेश याज्ञनिक, मुकेश मासूम, दीपक यादव एव आभार प्रदर्शन पवन सराठे ने किया।

CATEGORIES
TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!