शिव महापुराण की अमृतवर्षा के साथ बह रही भजनों की सरिता

शिव महापुराण की अमृतवर्षा के साथ बह रही भजनों की सरिता

इटारसी। श्री दादाजी दरबार तवानगर में श्री शिवपुराण की अमृत वर्षा के साथ ही भजनों की सरिता भी बही। अमृत वर्षा के दौरान भजनों पर श्रद्धालु अपने को करतल ध्वनि के साथ नृत्य करने से नहीं रोक पा रहे हैं।

श्री दादाजी दरबार आश्रम में शिवपुराण का आज विश्राम दिवस है। कल कथावाचक पंडित सौरभ दुबे ने भगवान गणश का रिद्धि और सिद्धि के साथ विवाह और भगवान गणेश के पुत्र शुभ और लाभ की कथा को विस्तार से बताया। कथा समापन प्रसाद वितरण के पश्चात निर्धारित कार्यक्रमानुसार रात्रि में मुंबई की पाश्र्व गायिका पूर्णिमा आंगले की भजन प्रस्तुति ने पूरा माहौल भक्तिमय बना दिया।

पूर्णिमा आंगले ने सत्यम, शिवम, सुन्दरम सहित अन्य भजनों से समा बांध दिया। वही भोपाल से आई गायिका गुंजन तिवारी, गुनगुन तिवारी ने अपने शानदार गीतों की प्रस्तुति से सभी को नृत्य करने पर विवश कर दिया। आरंभ में मुख्य यजमान परशुराम यादव एवं श्रीमती अनुराधा यादव सहित परिवार के सदस्यों ने अतिथियों का सम्मान किया। संचालन दादा दरबार के बसारत खान ने किया।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!