आज की युवा शक्ति से भारत 2047 तक विश्व में नेतृत्व करेगा

आज की युवा शक्ति से भारत 2047 तक विश्व में नेतृत्व करेगा

  • वैश्विक परिदृश्य में विकसित भारत विषय पर शासकीय कन्या महाविद्यालय में परिचर्चा

इटारसी। शासकीय कन्या महाविद्यालय इटारसी (Government Girls College, Itarsi,) में वैश्विक परिदृश्य में विकसित भारत @ 2047 विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया गया। इस परिचर्चा में विषय विशेषज्ञ के रूप में डॉ. केएस उप्पल (Dr. KS Uppal) भूतपूर्व प्राचार्य शासकीय एमजीएम महाविद्यालय इटारसी (Government MGM College, Itarsi,) ने प्राध्यापकों एवं छात्राओं के साथ भाग लिया। डॉ नेहा सिकरवार (Dr. Neha Sikarwar) हिंदी विभागाध्यक्ष के द्वारा कार्यक्रम का संचालन किया गया।

इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. आरएस मेहरा (Dr. RS Mehra) ने कहा कि ऐसी परिचर्चाएं छात्राओं एवं शिक्षकों को आपस में विचार साझा करने का अवसर प्रदान करती है। यह परिचर्चा विकसित भारत @ 2047 हेतु सुझाव एकत्र करने का जरिया बन सकती है। संयोजक डॉ. हरप्रीत रंधावा (Dr. Harpreet Randhawa) ने कहा कि विकसित भारत में युवाओं की भागीदारी अहम होगी इसलिए युवाओं को जोडऩे की मुहिम उच्च शिक्षण संस्थानों से शुरू की गई है। विषय विशेषज्ञ डॉ. केएस उप्पल ने कहा कि आज की वह शक्ति ही अपने ऊर्जावान प्रयासों से 2047 तक विश्व को अपना नेतृत्व प्रदान करेगा।

डॉ. शिरीष परसाई ने कहा कि इस प्रकार की परिचर्चाऐं उच्च शिक्षा में नवाचार के साथ-साथ छात्राओं में जागरूकता भी लाती है। इस परिचर्चा में मुख्य रूप से शिक्षा मंसोरिया, यशस्वी ठाकुर, प्रज्ञा शर्मा, भावना नागराज, रितु गोर, आस्था पांडे ने भाग लिया। कार्यक्रम में डॉ. कुमकुम जैन, मंजरी अवस्थी, डॉ. हर्षा शर्मा, पूनम साहू, ,डॉ. शिरीष परसाई, डॉ श्रद्धा जैन, डॉ शिखा गुप्ता, डॉ नेहा सिकरवार, तरुणा तिवारी, प्रिया कलोसिया, हेमंत गोहिया, क्षमा वर्मा, शोभा मीना, करिश्मा कश्यप तथा छात्राएं उपस्थित थीं।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!