सुबह विधायक से मिले योगेश के परिजन, शाम को आरोपियों के मकान पर चली जेसीबी

सुबह विधायक से मिले योगेश के परिजन, शाम को आरोपियों के मकान पर चली जेसीबी

  • आखिरकार प्रशासन ने हत्यारोपियों के मकानों के अवैध हिस्से तोड़े

इटारसी। सुबह योगेश मेहरा हत्याकांड के आरोपियों पर कार्रवाई की मांग लेकर योगेश के परिजनों ने विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा से मुलाकात कर आवेदन दिया था। विधायक डॉ.शर्मा ने तत्काल एसडीएम और टीआई से भी इस बाबत बात की और कार्रवाई करने को कहा। शाम को प्रशासन ने कार्रवाई कर दी।

बता दें कि विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा ने अपने विधानसभा क्षेत्र में अपराधियों के खात्मे के लिए हमेशा प्रयास किये और इस विधानसभा चुनाव में भी उनके वादों में अपराधियों का खात्मा और उनकी पर सख्त कार्रवाई प्रमुख वादा था। वे हमेशा ही कहते रहे हैं कि उनके क्षेत्र से अपराधी या तो कहीं चले जाएं या फिर उनकी जगह जेल में होगी।

आज शाम नाला मोहल्ला में योगेश मेहरा हत्याकांड के आरोपियों के मकानों के अवैध हिस्से आज शाम प्रशासन ने जेसीबी और पुलिस बल के साथ जाकर तोड़ दिये। इस दौरान स्वयं एसडीएम नीता कोरी, टीआई गौरव सिंह बुंदेला, सीएमओ रितु मेहरा और पुलिस बल मौजूद रहा। प्रशासन की कार्रवाई के दौरान मौके पर बड़ी संख्या में मोहल्ले के लोग एकत्र हो गये थे। शाम को जेसीबी के साथ आधा दर्जन वाहनों के साथ प्रशासनिक अमला नाला मोहल्ला पहुंचा और कार्रवाई प्रारंभ की। जेसीबी से सिर्फ उतना ही हिस्सा तोड़ा गया जो अवैध था। प्रशासन की यह कार्रवाई केवल 45 मिनट चली और तीन मकानों के सामने का हिस्सा जो अवैध था, वह ढहा दिया गया।

उल्लेखनीय है कि योगेश के हत्यारों को फांसी देने और उनका अवैध कब्जे में बना मकान तोडऩे की मांग लेकर सोमवार को मेहरा समाज के लोगों के साथ नाला मोहल्ला की जनता ने जयस्तंभ चौक और पुलिस थाना परिसर में विरोध प्रदर्शन किया था। पुलिस योगेश हत्याकांड के चारों आरोपियों को घटना वाली रात को ही हिरासत में ले चुकी थी और अब उनको जेल भी भेजा जा चुका है।

यह था घटनाक्रम

नाला मोहल्ला स्थित चिश्तिया नगर निवासी 26 वर्षीय योगेश मेहरा की हत्या मोहल्ले के ही शिब्बू उर्फ शुभम आसरे ने सुल्तान उर्फ टीपू, शेख रहीस उर्फ पोटा, और रहीम खान के साथ मिलकर रात दस बजे मोहल्ले में चाकुओं से गोदकर कर दी थी। हत्याकांड के आरोपियों को पुलिस ने तत्काल गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन परिजन और वार्डवासियों में हत्या को लेकर काफी रोष था। इसलिए आक्रोशित परिजन और वार्डवासियों ने मिलकर थाने का घेराव कर आरोपियों के घर गिराने और फांसी की सजा की मांग की थी। इस मामले में एसडीएम नीता कोरी के नेत्रत्व में प्रशासनिक अमला नाला मोहल्ला पहुंचा जहां सुल्तान, शिब्बू और पोटा के घर के सामने किए अतिक्रमण को जेसीबी मशीन से हटाया गया।

बड़ी संख्या में मौजूद रहा पुलिस बल

अतिक्रमण की कार्रवाई शुरू होने के पहले यहां नगर निरीक्षक गौरव सिंह बुंदेला के नेतृत्व में बड़ी मात्रा में पुलिस बल मौजूद रहा। इसके अलावा नपा सीएमओ रितु मेहरा और राजस्व एवं नपा की टीम भी मौजूद रही ताकि अतिक्रमण हटाते समय किसी भी प्रकार के संभावित विवादों से निबटा जा सके। तीनों आरोपियों ने अपने घर के सामने अतिक्रमण कर लिया था। जिसकी अनुमति नपा से नहीं ली गई थी। जिसे नपा ने चिन्हित कर शुक्रवार को तोडऩे की कार्रवाई की। अतिक्रमण हटाते समय किसी भी प्रकार का कोई विवाद सामने नहीं आया है।

इनका कहना है

नाला मोहल्ला क्षेत्र में तीन घरों का अतिक्रमण तोड़ा गया है। यह तीनों घर हत्या के आरोपियों के हैं। जिन्होंने नपा की बिना अनुमति के अतिक्रमण कर लिया था। जिसे चिन्हित कर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई है।

नीता कोरी, एसडीएम

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!