Breaking News

एक करोड़ की चोरी कर भाग रहे नेपाली चोर पकड़ाए

एक करोड़ की चोरी कर भाग रहे नेपाली चोर पकड़ाए

खंडवा।जीआरपी और आरपीएफ ने करीब एक करोड़ की चोरी करके नेपाल भागने का प्रयास कर रहे नेपाली चोरों की एक गैंग को धर दबोचा है। ये लोग पुणे से करीब 1 करोड़ की चोरी कर नेपाल भागने की फिराक में थे। पुणे के एक व्यापारी के घर काम करने वाले नेपाली नौकर ने चोरी की घटना को अंजाम दिया है। इनमें तीप आरोपी खंडवा रेलवे स्टेशन पर धरा गए हैं। इनके पास से 9 लाख के आभूषण, आई फोन और विदेशी करंसी बरामद हुई है। ये सभी आरोपी नेपाल के रहने वाले।
जानकारी के अनुसार पुणे पुलिस ने सूचना दी थी कि काशी एक्सप्रेस से आरोपी नेपाल भागने वाले हैं। उन आरोपियों के स्केच खंडवा पुलिस के पास पहुंच गए थे। लेकिन काशी एक्सप्रेस में आरोपी नहीं मिले। इस बीच रेलवे पुलिस ने टीम गठित कर इन आरोपियों की खोज शुरू की और पुष्पक ट्रेन में तलाशी के दौरान पुलिस को सफलता मिल गई और तीन आरोपी गोविंद पिता कालू परिहार, निवासी लम्की जिला के परी नेपाल, निरपुर, निवासी सेन नेपाल और पदम पिता शेर बहादुर निवासी थोड़ी धरा गए। हालांकि मुख्य आरोपी अभी फरार है।
रेलवे पुलिस के डीएस बघेल ने बताया कि आरोपी 7 थे, जिसमें तीन आरोपी पकड़ाए हैं। इनका रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है। डीएस कौरव, आरएस गुर्जर, रोहिताश कुमार, जय प्रकाश यादव, अजय सिंह, कमलेश सिंह जैन ने आरोपियों को पकडऩे में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। श्री बघेल ने बताया कि आरोपी नेपाली हैं और यह लोगों के घरों में काम करते हैं, पहले लोगों का दिल जीतते हैं और जब लोग इन पर विश्वास करने लगते हैं तो फिर यह घटना को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं। पुणे की क्राइम ब्रांच की टीम भी खंडवा पहुंच गई है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। चार आरोपी अभी फरार हैं। पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में चोरी के और माल की जानकारी ली जा रही है।
जीआरपी बीएस बघेल ने आज प्रेसवार्ता में जानकारी दी कि जीआरपी खंडवा में 3 नेपाली आरोपियों को गिरफ्तार किया है। ये काफी शातिर किस्म के बदमाश हंै। घरों में लूटपाट और चोरी के लिए ये महाराष्ट्र समेत आसपास के मंडलों में कुख्यात हैं। इस दौरान जीआरपी ने इसे पकडऩे की कोशिश की मगर कोई स्थिर ठिकाना न होने की वजह से उसे गिरफ्तार नहीं किया जा सका। लेकिन जब पुलिस को पता चला कि पुष्पक ट्रेन से यह आरोपी खंडवा की ओर से जा रहे हैं तो टीम गठित कर इन्हें पकड़ लिया गया।

error: Content is protected !!