गुरूवार, मई 30, 2024

LATEST NEWS

Related Posts

दो तेलुगु राज्यों से पहली भारत गौरव ट्रेन की शुरुआत सिकंदराबाद से हुई

उत्सवी माहौल से तीर्थयात्रियों का स्वागत किया गया।*
सिकंद्राबाद।
तेलंगाना और आंध्र प्रदेश, दोनों तेलुगु राज्यों से पहली भारत गौरव गाड़ी आज 18 मार्च, 2023 को सिकंदराबाद स्टेशन से आरंभ हुई। स्टेशन परिसर में एक उत्सव का माहौल था, रेल यात्रियों का पारंपरिक स्वागत किया। कुचिपुड़ी नर्तक सांस्कृतिक प्रदर्शन करते हुए दोनों तेलुगु राज्यों के विरासत की याद दिला रहे थे। दक्षिण मध्य रेलवे के महाप्रबंधक अरुण कुमार जैन ने आईआरसीटीसी की अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक श्रीमती रजनी हसीजा और अन्य वरिष्ठ रेलवे पदाधिकारियों की उपस्थिति में रेल यात्रियों को स्वागत किट सौंपा।

पुण्य क्षेत्र यात्रा – पुरी-काशी-अयोध्या नाम की इस गाड़ी का परिचालन भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) द्वारा किया जा रहा है। आईआरसीटीसी इस गाड़ी से यात्रा करने वाले पर्यटक तीर्थ यात्रियों के लिए एंड-टू-एंड सेवाएं प्रदान कर रही है। इसमें सभी यात्रा सुविधाएं (रेल और सड़क परिवहन दोनों सहित), आवास सुविधा, खानपान व्यवस्था (सुबह की चाय, नाश्ता, दोपहर का भोजन और रात्रि भोजन – ऑन-बोर्ड और ऑफ-बोर्ड दोनों), पेशेवर और मैत्रीपूर्ण टूर एस्कॉर्ट सेवाएं, गाड़ी में सुरक्षा (सभी कोचों में सीसीटीवी कैमरे सहित), सभी कोचों में सार्वजनिक घोषणा सुविधा, यात्रा बीमा तथा यात्रा के दौरान सहायता के लिए आईआरसीटीसी टूर प्रबंधकों की उपस्थिति शामिल हैं।

8 रात/9 दिन की अवधि वाली इस यात्रा में पुरी, कोणार्क, गया, वाराणसी, अयोध्या और प्रयागराज के महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक स्थानों का भ्रमण शामिल है। रेल यात्रियों की मांगों को पूरा करने के लिए गाड़ी में एसी और गैर-एसी दोनों प्रकार के कोच हैं। इस अनोखी पहल में यात्रियों की अपार रुचि देखी गई है, दोनों तेलुगु राज्यों में फैले सभी 9 स्टॉपेज स्टेशनों (सिकंदराबाद सहित) के यात्री इस अवसर का लाभ उठाने आगे आए हैं। गाड़ी की सभी 700 सीटें पूरी तरह से बुक हो गई हैं।
महाप्रबंधक अरुण कुमार जैन ने इस अवसर पर कहा कि यह गाड़ी तीर्थ यात्रियों को व्यक्तिगत यात्रा कार्यक्रम की योजना बनाने की परेशानी से बचाते हुए प्रमुख सांस्कृतिक स्थलों का भ्रमण करने का एक अनोखा अवसर प्रदान करती है। उन्होंने कहा कि भारत गौरव गाड़ी अत्यधिक सुविधाजनक तरीके से पर्यटक यात्रियों की आकांक्षाओं को पूरा करने के साथ-साथ देश में पर्यटन के विकास को प्रमुख रूप से बढ़ावा देंगी।

सीएमडी, आईआरसीटीसी श्रीमती रजनी हसीजा ने कहा कि पर्यटकों की रुचि के साथ-साथ स्थानों के महत्व को ध्यान में रखते हुए संपूर्ण यात्रा कार्यक्रम की योजना बनाई गई है। उन्होंने कहा कि इन स्थानों की यात्रा करने की योजना बना रहे लोगों के लिए यह गाड़ी एक किफायती, सुरक्षित और अत्यधिक आरामदायक विकल्प प्रदान करती है। सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन से पहली भारत गौरव गाड़ी को हरी झंडी दिखाकर रवाना करने के अवसर पर जॉन प्रसाद, प्रमुख मुख्य वाणिज्य प्रबंधक, दमरे, अभय कुमार गुप्ता, मंडल रेल प्रबंधक, सिकंदराबाद मंडल, पी राज कुमार, जीजीएम, आईआरसीटीसी सहित अन्य वरिष्ठ रेल पदाधिकारी उपस्थित रहे।

इनके होंगे दर्शन

  • पुरी – भगवान जगन्नाथ मंदिर
  • कोणार्क- सूर्य मंदिर तथा समुद्र बीच
  • गया- विष्णु पाद मंदिर
  • वाराणसी- काशी विश्वनाथ मंदिर और कॉरिडोर, काशी विशालाक्षी और अन्नपूर्णा देवी मंदिर संध्या गंगा आरती
  • अयोध्या- राम जन्म भूमि, हनुमानगढ़ी और सरयू नदी पर आरती
  • प्रयागराज- त्रिवेणी संगम, हनुमान मंदिर और शंकर विमान मंडपम।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

TECHNOLOGY

error: Content is protected !!