गुरूवार, मई 30, 2024

LATEST NEWS

Related Posts

राहुल के परिजनों को उसकी हत्या होने की आशंका

इटारसी। करीब एक माह पूर्व ग्राम गुर्रा और दमदम के मध्य रेलवे पटरी किनारे मृत मिले बिहार निवासी युवक के परिजनों ने उसकी हत्या की आशंका जतायी है। हालांकि पुलिस चलती ट्रेन से गिरना मानकर चल रही थी, अब जांच की दिशा बदली जाएगी।

युवक के परिजनों ने उसके मोबाइल में मिले वीडियो क्लिप के आधार पर उसकी हत्या की आशंका जतायी है। युवक राहुल कुमार के चाचा का कहना है कि पुलिस ने उनको राहुल के मोबाइल सौंपे थे। जब उसके मोबाइल को चेक किया तो उसमें ट्रेन के पैंट्रीकार कर्मचारियों से विवाद के कुछ वीडियो मिले हैं। परिजनों को आशंका है कि पेंट्री कार के कर्मचारियों ने राहुल को धक्का देकर ट्रेन से गिराया है। मृतक राहुल मुजफ्फरपुर जिला बिहार का रहने वाला था। घटना वाले दिन मुंबई से अपने घर जा रहा था।

युवक का शव 27 फरवरी को दमदम और गुर्रा के बीच ट्रैक पर दो हिस्सों में मिला था। लोको पायलट ने इस बात की जानकारी रामपुर पुलिस को दी थी। मृतक राहुल कुमार 23 वर्ष के पिता और चाचा ने सोमवार को इटारसी पहुंचकर उसकी हत्या की आशंका जतायी है। परिजनों का कहना है कि ट्रेन में पैंट्रीकार कर्मचारियों से हुए विवाद के बाद आरोपियों ने राहुल के साथ मारपीट कर उसे चलती ट्रेन से फैक है, जिससे उसकी मौत हो गई। परिजन ने राहुल के मोबाइल से बनाए कुछ वीडियो भी पुलिस को दिए हैं। इसमें युवक पैंट्रीकार स्टाफ का वीडियो बनाते हुए उनसे हुए विवाद के बारे बताता नजर आ रहा है। वीडियो में राहुल की आवाज आ रही है। उसका चेहरा नहीं दिख रहा है। ट्रेन के पेंट्रीकार स्टाफ अटेंडर से उसका विवाद हुआ था। वीडियो में वो विवाद को लेकर अपना विरोध जताते हुए आरोपी अटेंडर से धक्का देने की वजह पूछ रहा है।

पिता नंदकिशोर शाह ने यहां बताया कि उनका बेटा राहुल मुंबई में मोबाइल के सामान बेचता था। 25 फरवरी को उसके दादा ससुर की मौत के बाद वह 26 फरवरी 2023 को लोकमान्य तिलक टर्मिनल-पाटलीपुत्र ट्रेन (12141) से अपने गांव जाने मुंबई से पटना की यात्रा कर रहा था। ट्रेन चलने के बाद राहुल ने अपनी पत्नी और परिजनों को बताया कि वह घर आ रहा है। इस बीच पुलिस को 27 फरवरी को दमदम और गुर्रा के बीच रेलवे ट्रैक पर राहुल का शव दो हिस्सों में मिला था। लोको पायलट ने यह जानकारी रामपुर पुलिस को दी थी। नंदकिशोर ने बताया कि 27 फरवरी 2023 को रात करीब 8 बजे रामपुर थाना से सूचना मिली कि राहुल नाम का व्यक्ति ट्रेन से कट गया है। यहां कार्रवाई चल रही है। सूचना मिलते ही मैं परिवार के लोगों के साथ मुजफ्फरपुर से इटारसी मर्चुरी पहुंचा। बेटे का शव दो हिस्सों में कटा हुआ था। उसको पहचान कर इटारसी में ही हमने उसका अंतिम संस्कार कर दिया था।

पुलिस ने कागजी कार्रवाई कर मेरे बेटे के दो मोबाइल और कुछ सामान दिया था। हम लोग अपने गांव चले गए। घर जाकर कुछ दिनों बाद मोबाइल चार्ज करके देखा तो उसमें चलती ट्रेन में हुए विवाद के चार वीडियो मिले। इन वीडियो में राहुल की आवाज आ रही है। उसका चेहरा नहीं दिख रहा है। उसका ट्रेन के पैंट्रीकार स्टाफ अटेंडर से झगड़ा हो रहा था। इसमें एक व्यक्ति बेटे को पीटते हुए दिख रहा है। वीडियो में राहुल अपने साथ हुई मारपीट के बारे में बताता दिख रहा है, साथ ही उसमें टीटी सहित कई अन्य लोग भी दिख रहे हैं।

राहुल के चाचा बालक शाह का आरोप है कि पैंट्रीकार के कर्मचारियों ने राहुल के साथ मारपीट की। जब वह इसके वीडियो बनाने लगा तो स्टाफ ने राहुल को ट्रेन से फेंक दिया। घटना को 1 महीना हो गया है। हम न्याय की उम्मीद लेकर इटारसी पहुंचे हैं। यह वीडियो देखने के बाद हमने रामपुर थाना पुलिस से चर्चा की। पुलिस ने हमसे वीडियो मंगाए। वीडियो देखने के बाद पुलिस ने हमें थाने बुलाया। यहां बेटे के दोनों मोबाइल पुलिस ने जब्त कर लिए हैं। राहुल घर का अकेला कमाने वाला सदस्य था। वह मुंबई में मोबाइल एसेसरी बेचता था। उसके भेजे रुपयों से घर का खर्च चलता था। पिता ने बताया कि घर में बड़ी बेटी की शादी हो गई है। राहुल की मौत के बाद अब उनके घर में एक 13 साल का बेटा संजय ही बचा है। संजय की मां का देहांत कुछ साल पहले ही हो चुका है। रामपुर के थाना प्रभारी खुमान सिंह पटेल के अनुसार इस मामले में जांच की जा रही है। परिवार वालों ने कुछ वीडियो दिए हैं, उनकी जांच कराकर उन्हें भी जांच में शामिल करेंगे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

TECHNOLOGY

error: Content is protected !!