मध्यप्रदेश में टेम्प्रेचर का टॉर्चर जारी, कोहरा और सर्दी का सितम

मध्यप्रदेश में टेम्प्रेचर का टॉर्चर जारी, कोहरा और सर्दी का सितम

इटारसी। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) कोहरा (Kohra) और सर्दी का सितम जारी है। मौसम विभाग के अनुसार मध्यप्रदेश का हर जिला इससे प्रभावित है। कोहरा और सर्दी ने जगजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है साथ ही यातायात भी पूरी तरह प्रभावित है। जिसके चलते वाहनों की रफ्तार धीमी हो गयी है और लोगों को यात्रा करने में लोगों को दिक्कत हो रही है। आज सुबह कोहरे और धुंध के कारण शहर की सड़कों पर दृश्यता करीब 500 मीटर रही। रात में भी 11 बजे के बाद से विद्युत की रोशनी में कोहरा साफ दिखाई दे रहा था। रात के वक्त दृश्यता और भी कम रही। हाईवे पर वाहन काफी धीमी रफ्तार से चल रहे थे। नगर पालिका (Municipality) द्वारा जलाये अलाव के आसपास ठंड से बचने न सिर्फ नागरिक बल्कि मवेशी भी बैठे रहे।

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर से कुछ दिन पहले ही पश्चिमी विक्षोभ गुजरा है। इसकी वजह से उत्तर भारत से ठंडी हवाएं आ रही हैं, इससे ही पारा लुढ़का है। एक-दो दिन में पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव कम होने पर तापमान में बढ़ोतरी होगी। नर्मदापुरम (Narmadapuram) के इटारसी(Itarsi) में आज अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस रहा, रात में इसके 16 डिग्री तक नीचे जाने का अनुमान है। सर्दी का सितम जारी रहने से नर्मदापुरम जिला प्रशासन ने सुबह की पारी में लगने वाले स्कूलों का समय भी बदला है। कलेक्टर सुश्री सोनिया मीना (Collector Ms. Sonia Meena) ने स्कूलों का समय सुबह 9:30 बजे के बाद का कर दिया है।

आदेशानुसार सुबह 9:30 से पहले कोई भी स्कूल नहीं लगाया जाएगा। विगत करीब एक सप्ताह से कड़क धूप नहीं निकली है, अलबत्ता बादलों की ओट से सूरज ने कभी-कभार ही झांका है। बादलों और धुंध के बीच मौसम में ठंडक रही और अब लोगों को ठिठुरन का अहसास भी हुआ है। हालांकि तेज हवा नहीं चलने से कुछ राहत है। हवा की रफ्तार 8 किलोमीटर प्रतिघंटे ही रही है। बादलों के बरसने से गेहूं की फसल को फायदा बताया जा रहा है, हालांकि सब्जी की फसल को फायदे की जगह नुकसान की आशंका जतायी जा रही है। फसल में माहू का प्रकोप बढ़ रहा है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!