आदिवासियों ने बनायी आंदोलन की रणनीति

आदिवासियों ने बनायी आंदोलन की रणनीति

– वन अधिकारियों पर पैसे लेने का आरोप

– राशन मिलने में हो रही परेशानी पर चर्चा

– जल्द ही कलेक्टर से मिलकर ज्ञापन सौंपेंगे

इटारसी। आदिवासी ब्लॉक केसला (Tribal block Kesla) के अंतर्गत आने ग्राम पंचायत डोबी तालपुरा से जुड़े गांव खोरीपुरा, खटामा कई समस्याओं से जूझ रहे हैं। पूरे परिवार को राशन लेने 7 किलोमीटर की दूरी तय करके सोसायटी (Society) तीखड़ जाना पड़ रहा है। कई बुजुर्ग, बच्चों एवं महिलाओं को दिक्कत हो रही है। बिना अंगूठे के राशन नहीं मिल रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि गांव में ही राशन मशीन लाकर अंगूठा लगाए जाए। यह मांग ग्राम टांगना, खटामा, खीरीपुरा के ग्रामीणों ने आज हुई बैठक में रखी और भविष्य की योजना पर चर्चा की गई।

बैठक में पूर्व जनपद सदस्य फागराम, आदिवासी सेवा समिति अध्यक्ष बलदेव तेकाम, उपाध्यक्ष मन्नालाल एवं अमर सिंह कलमे, बुधराम, राजेश कासदे, कलीराम, विनोद वारीबा, राजकुमार, मंगल सिंह, वैजयंती, फूलवती, सीमा बाई सहित आसपास गांव के आदिवासी महिला-पुरुष उपस्थित थे। बैठक में ग्रामीणों ने बताया कि वन विभाग (Forest department) द्वारा परेशान किया जा रहा है। डिप्टी रेंजर टांगना एवं जमानी के इंचार्ज द्वारा गरीबों से पैसा वसूल किया जा रहा है। डैम के अंदर से ट्रैक्टर लेकर आ रहे रामदास कलमे से 10,000 रुपए मांगे। इसके बाद ही ट्रैक्टर छोड़ा।

ग्रामीण ऐसे अधिकारियों के खिलाफ एकजुट हुए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि ग्रीन इंडिया मिशन (Green India Mission) के तहत इमली पानी आरएफ-160,161 में भारी भ्रष्टाचार हुआ। अभी तक कई मजदूरों का भुगतान नहीं हुआ। ग्रामीणों ने आंदोलन की रणनीति बनायी। जल्द ही इस विषय में रैली निकालकर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा जाएगा। ग्रामीण इस बात पर भी नाराज हैं कि कलेक्टरने निर्देश दिए थे कि 15 दिनों में समस्या का निराकरण हो जाएगा लेकिन अभी तक जांच की टीम नहीं पहुंची। जंगलों में अवैध रूप से लकड़ी की कटाई चल रही है।

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!