प्रेमी को बाल सुधार गृह भेजा तो प्रेमिका ने फांसी लगा ली

प्रेमी को बाल सुधार गृह भेजा तो प्रेमिका ने फांसी लगा ली

रीतेश राठौर, केसला। आदिवासी ब्लॉक (Tribal Block) के एक गांव में एक युवती ने केवल इसलिए फांसी लगाकर जान दे दी, क्योंकि पुलिस (Police) ने उसके नाबालिग प्रेमी को बाल सुधार गृह बैतूल (Child Improvement Home Betul) भेज दिया था। ये दोनों कुछ दिन पूर्व घर से भागे थे, पुलिस में लड़की के परिजनों की शिकायत पर पिपरिया (Pipariya) के पास एक गांव से इनको ढूंढ़ निकाला। लड़की को परिजनों को सौंप दिया जबकि लड़का नाबालिग होने पर उसे बाल सुधार गृह भेज दिया। लड़की उसी लड़के के साथ रहने की जिद कर रही थी और परिजनों से जान देने की बात कर रही थी। आखिरकार, उसने शनिवार को दोपहर 12 बजे अपने ही घर में फांसी लगा ली।

नर्मदापुरम (Narmadapuram) जिले के केसला ब्लॉक में 18 साल की रेप पीडि़ता ने फांसी लगाकर जान दे दी। घटना शनिवार दोपहर करीब 12 बजे की है। पिछले महीने ही पीडि़ता घर से एक नाबालिग किशोर के साथ भागी थी। जब लड़की के परिजनों ने शिकायत की तो पुलिस ने दोनों को ढूंढ़ निकाला और नाबालिग पर रेप का मामला दर्ज कर उसे बा सुधार गृह बैतूल भेज दिया। जब ये घर से भागे थे तब दोनों नाबालिग थे और युवती 6 जून को ही 18 साल की हुई थी। जिस किशोर पर पीडि़ता की मां केस दर्ज कराया था, युवती उसी के साथ पीडि़ता रहने की जिद कर रहीं थीं और अपने प्रेमी को बाल सुधारगृह भिजवाने से नाराज थी।

शनिवार दोपहर करीब 12 बजे उसने अपनी घर की छत पर खंभे में गमछे के फंदा बनाकर फांसी लगा ली। पीडि़ता की मां ने बेटी को फांसी पर लटका देखा। सूचना मिलने पर केसला पुलिस मौके पर पहुंची। एएसआई भोजराज बरवड़े (ASI Bhojraj Barwade) ने बताया कि पुलिस ने मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया है। युवती के शव का पोस्टमार्टम कराके परिजनों को सौंपा और पुलिस की मौजूदगी में ही गांव में अंतिम संस्कार भी कराया है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!