गायत्री परिवार द्वारा युवा चेतना व्यक्तित्व परिष्कार कार्यशाला प्रारंभ

गायत्री परिवार द्वारा युवा चेतना व्यक्तित्व परिष्कार कार्यशाला प्रारंभ

नर्मदापुरम। अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार (All World Gayatri Parivar Shantikunj Haridwar) के तत्वावधान में गायत्री शक्तिपीठ नर्मदापुरम (Gayatri Shaktipeeth Narmadapuram) में युवा चेतना व्यक्तित्व परिष्कार कार्यशाला में शांतिकुंज प्रतिनिधि दिलीप कटारे (Dilip Katare), सिद्धनाथ खजुरिया (Siddhanath Khajuria), तनुज पांडे (Tanuj Pandey), नेतराम (Netram) ने गुरुदेव एवं माता के सामने दीप प्रज्वलित किया एवं पूजन से कार्यशाला प्रारंभ की गई।

इस मौके पर अनुराग मिश्रा के द्वारा कार्यशाला के उद्देश्यों एवं आज के समय की आवश्यकता क्यों है को संक्षिप्त में बताया गया। श्री नेतराम जी द्वारा जिले से आए युवा साथियों बहनों एवं विभिन्न ग्रामों से माताएं भाइयों को गायत्री परिवार की चल रही विभिन्न योजनाओं अभियानों की संक्षिप्त जानकारी देते हुए युवाओं को कैसे अपना व्यक्तित्व विकास करें पर अपने विचार व्यक्त किए। डॉक्टर सिद्धार्थ खजूरिया जी ने लक्ष्य की प्राप्ति किस प्रकार कर सकते हैं एवम युवा अपने व्यक्तित्व से कैसे समाज को एक सही दिशा निर्देश दे सकता है और एवं भारतीय संस्कृति में संस्कृत विषय की कितनी महत्व उपयोगिता है वेद भाषा संस्कृत के महत्व को बताया ।

गायत्री परिवार के द्वारा चल रहे विभिन्न अभियानों की जानकारी श्री राजेश चौहान जी के द्वारा दी गई , श्री तनुज कुमार पांडे जी के द्वारा हम अपने लक्ष्य की प्राप्ति किस प्रकार करते हैं समाज में देश में हमारा योगदान किस प्रकार रहेगा इन विभिन्न बिंदुओं पर जानकारी प्रदान करें। श्री दिलीप कटारे जी ने सोशल मीडिया के क्या दुरुपयोग एवं सदुपयोग होते हैं यह जानकारी द्वारा प्रदान की गई। कार्यशाला में जिले से आये सदस्यों ने अपने-अपने तहसील का एक संकल्प पत्र तैयार किया जिसमें अपनी तहसील में 3 माह में किए जाने वाले लक्ष निर्धारित किये। बाबई से अनंत कुमार श्रीवास्तव, इटारसी से केके पाटीदार, नर्मदा पुरम से ओपी गौर, सोहागपुर से श्रीमती वंदना पटवा तथा डोलरिया से चंद्रशेखर राजपूत ने संकल्प प्रस्तुत किये। संचालन युवा प्रकोष्ठ प्रभारी चंद्र मोहन गौर ने किया।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!