हरदा में 4 काैए; 2 कबूतर, रहटगांव में 18 मुर्गियों की माैत

हरदा में 4 काैए; 2 कबूतर, रहटगांव में 18 मुर्गियों की माैत

हरदा। बर्ड फ्लू (Bird flu) की बढ़ती आशंका ने लाेगाें की चिंता बढ़ा दी है। जिले के रहटगांव, हंडिया व हरदा में बीते 3 दिनाें से काैओं और कबूतरों के मृत मिलने का सिलसिला जारी है। करबला चाैक में 3 काैए व कबूतर मृत मिले। जिन्हें सफाईकर्मियाें ने पीपीई किट (PPE kit) पहनकर उठाया। रहटगांव में 3 दिन में 18 मुर्गियों की माैत हुई है। 6 जनवरी काे सबसे पहले हंडिया में व 7 जनवरी काे हरदा राजमा चाैक में काैवे मृत मिले थे। पशु चिकित्सा विभाग ने 3 मृत काैओं व कबूतर के सैंपल व 20 बीट लैब भेजी है। शुक्रवार काे हरदा के करबला घाट के पास 4 काैए व 2 कबूतर मृत मिले, तब शहर में अधिकारियों में हड़कंप मचा।

2 साल से स्वच्छता निरीक्षक नहीं
नपा में करीब दाे साल से ज्यादा समय से स्वच्छता निरीक्षक का पद खाली है। ऐसे में हाेटलाें, मीट आदि की दुकानाें पर स्वच्छता की जांच के काेई इंतजाम ही नहीं हैं। जिले में 4 पोल्ट्री फार्म, 18 छाेटे बड़े तालाब हैं। हाेटल, ढाबों में ग्राहकों काे पराेसने जाने वाले मीट व खुले में मुर्गा-मुर्गी, बकरा-बकरी काटकर बेचने की भी जांच नहीं हाे रही है। हादसे में मृत व किसी बीमारी से मरे पशुओं का भी लाेग मांस बेखौफ बेच रहे हैं। शहर की सेंट मेरी स्कूल में भी बड़ी संख्या में कबूतर हैं, जहां लाेग दाने डालने अाते हैं।

पक्षियों के सैंपल लिए, गड्ढाें में किया दफन
करबला चाैक में पक्षियों के मरने की सूचना के बाद सफाई कर्मियाें काे पीपीई किट उपलब्ध कराई। पशु चिकित्सकों ने मृत पक्षियों के सैंपल लिए। इसके बाद कर्मचारियों ने इन्हें प्लास्टिक की बाेरियाें में रखकर अधिकारियों की देखरेख में गहरा गड्ढा खाेदकर दफन किया। नपा ने क्षेत्र काे सैनिटाइज कराया।

कब कहां-कहां मिले पक्षी
6 जनवरी, हंडिया में 1 काैआ
7 जनवरी, 2 काैए राजमा चाैक हरदा
8 जनवरी, 2 कबूतर, 4 काैए करबला चाैक हरदा

खुले मांस विक्रय पर राेक के आदेश नहीं
रहटगांव में 3 दिन में 18 पालतू मुर्गियों की माैत व जिले में लगातार बर्ड फ्लू की बढ़ती आशंका के बाद भी प्रशासन ने अभी खुले में हाेने वाले मांस विक्रय पर राेक के आदेश जारी नहीं किए हैं। प्रशासन की दलील है कि अभी पक्षियों के माैत के कारणाें की पुष्टि नहीं हुई है। नपा ने मांस विक्रय के लिए जत्रापड़ाव में मीट मार्केट बनाया है। इसके बावजूद शहर में अस्पताल के सामने, कृषि उपज मंडी के पास व कई अन्य जगहों से खुलेआम मांस विक्रय सालाें से चल रहा है। लोगों की मांग है कि इन सभी स्थानों से मांस विक्रय बंद कर एक स्थान पर किया जाए।

रहटगांव में 18 मुर्गियों की मौत
रहटगांव तहसील में 3 दिनों में 18 मुर्गियों की मौत हुई है। इससे लाेगाें में दहशत है। शुक्रवार सुबह करीब 7 बजे आनंद कलोसिया द्वारा पाली गई मुर्गियों को दाना खिलाया जा रहा था। इसी दौरान 3 मुर्गियों ने दम तोड़ दिया। मुर्गियों की अचानक मौत की खबर लगते ही माैके पर पहुंचे पशु चिकित्सक डॉ. राहुल उइके ने मुर्गियों के अस्पताल में सैंपल लिए।  मौके पर 1 मुर्गी मृत मिली और कुछ मुर्गियां बीमार मिलीं। सैंपल रिपोर्ट आने पर माैत का कारण पता चलेगा।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW