BREAK NEWS

संरक्षा की मुस्तैदी परखने डीआरएम अचानक पहुंचे स्टेशन, पेट्रोलिंग भी देखी

संरक्षा की मुस्तैदी परखने डीआरएम अचानक पहुंचे स्टेशन, पेट्रोलिंग भी देखी

भोपाल/इटारसी। भोपाल मंडल रेल प्रबंधक सौरभ बंधोपाध्याय ने अपने स्टाफ की मुस्तैदी परखने रात्रिकालीन औचक निरीक्षण किया। वे सबसे पहले भोपाल रेलवे स्टेशन पर पहुंचे और यहां सफाई के अलावा यात्री सुविधा, सुरक्षा व्यवस्था, के साथ संरक्षा कर्मियों की सतर्कता, नियमों व कार्य पद्धति की जानकारी व अनुशासन की जांच की।

डीआरएम रात लगभग 21.30 बजे भोपाल स्टेशन पहुंचे और प्लेटफॉर्म-6 की तरफ की बिल्डिंग में यात्री प्रतीक्षालय, बुकिंग काउंटर का निरीक्षण कर सफाई एवं अन्य व्यवस्था देखी। प्लेटफार्म नंबर 2/3 पर निरीक्षण के दौरान मेसर्स एचडी एंड संस स्टॉल के बाहर वेंडर द्वारा खुला खाद्य सामग्री बेचते मिलने पर वेंडर के विरुद्ध कार्यवाही करने और स्टॉल को तत्काल प्रभाव से बंद करने के निर्देश दिए। प्लेटफॉर्म नंबर-2 पर निरीक्षण के दौरान इटारसी छोर पर रखा पार्सल और सफाई संतोष जनक नहीं होने पर नाराजी व्यक्त की।

डीआरएम ने भोपाल स्टेशन से मालगाड़ी के इंजन में सवार होकर होशंगाबाद तक रात्रिकालीन संरक्षा निरीक्षण किया। इस दौरान चालक दल से चर्चा कर उनकी सतर्कता और मुस्तैदी को परखा तथा ट्रेन परिचालन के समय इंजन की देखरेख एवं परिचालन के संबंध में सावधानी बरतने के संबंध में मार्गदर्शन किया। निरीक्षण के दौरान डीआरएम ने पायलटों के मोबाइल फोन भी देखे, जो बंद पाये गए। रात्रिकालीन पेट्रोलिंग के तहत गस्त कर रहे पैट्रोलमैनों की सतर्कता और उपलब्धता को चेक किया। रात्रि में होशंगाबाद स्टेशन का औचक निरीक्षण कर वहां की व्यवस्था को चेक किया।

सड़क मार्ग से पहुंचे बरखेड़ा

डीआरएम होशंगाबाद से सड़क मार्ग द्वारा बरखेड़ा पहुंचकर विभिन्न संरक्षा गतिविधियों द्वारा पैट्रोलिंग की निगरानी के लिए जीपीएस उपकरणों के साथ कोल्ड वेदर पैट्रोलिंग एवं अन्य सुरक्षा उपकरणों को परखा। डीआरएम ने संदेश देते हुए कहा है कि संरक्षा सर्वोपरि है और सभी रेल कर्मी ध्यान रखें कि हमारी पहली जिम्मेदारी सुरक्षित परिचालन की है। कोई भी लापरवाही अथवा चूक न हो, इसके लिए जरूरी है कि सभी रेल कर्मी शारीरिक और मानसिक रूप से हमेशा दिन और रात चुस्त, दुरुस्त एवं सजग रहें। संरक्षा के कार्य में किसी भी तरह की कोई भी लापरवाही, आलस्य अथवा गैर जिम्मेदाराना बर्ताव, अवरोध उत्पन्न करने वाला बर्ताव एवं विलंब स्वीकार्य नहीं है।

ज्ञात हो कि रेलवे बोर्ड के दिशा निर्देशन में पूरे भारतीय रेल में एक माह का रेल संरक्षा अभियान चलाया जा रहा। जिसके तहत रेल संरक्षा की दृष्टि से मंडल रेल प्रबन्धक द्वारा रात्रिकालीन औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान वरिष्ठ मंडल संरक्षा अधिकारी, भोपाल रवींद्र शर्मा मौजूद थे।

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!