किसानों ने परस्पर अनुभवों का आदान-प्रदान किया

किसानों ने परस्पर अनुभवों का आदान-प्रदान किया

मासिक योजनांतर्गत किया खेतों का निरीक्षण
इटारसी। ग्राम सेवा समिति रोहना/निटाया होशंगाबाद के जैविक खेती जन अभियान के अंतर्गत समिति के सदस्यों ने अपने मासिक कार्यक्रम अंतर्गत हरदा जिले के ग्राम सोनतलाई और ग्राम बालागांव में जाकर वहां जहरमुक्त खेती करने वाले दो किसानों के खेतों का निरीक्षण किया। निरीक्षण का उद्देश्य किसानों को एकदूसरे के खेतों में जाकर परस्पर सीखने के अवसर देना, रसायन रहित खेती में कम लागत और गुणवत्तापूर्ण उत्पादन को बढ़ावा देना है।


हरदा जिले के ग्राम सोनतलाई निवासी किसान मनोज पटेल करीब अस्सी एकड़ में गौ आधारित, रसायन रहित खेती करते हैं। वे तुवर और चना की दलहनी फसल ले चुके हैं और वर्तमान में उनके खेत में गेहूं, तरबूज सहित कुछ सब्जियां और फलों की फसल है। समिति के सदस्यों ने समिति संरक्षक सुरेश दीवान और प्रो.कश्मीर सिंह उप्पल के नेतृत्व में खेतों में जाकर रसायनमुक्त फसलों को देखा। यहां कीट प्रबंधन, मिट्टी की उर्वरकता, बेहतर उत्पादन पर अनुभव साझा किये। समिति जैविक उत्पाद की चाह रखने वाले उपभोक्ताओं को कम दामों में बेहतर और गुणवत्तापूर्ण उत्पाद उपलब्ध कराने की अपनी योजना पर काम कर रही है। श्री पटेल के निवास के साइड में ही उनकी गौशाला का भी निरीक्षण किया और देसी गिर और साहीवाल गौवंश की जानकारी ली।
यह दल इसके बाद ग्राम बालागांव पहुंचा और यहां के लघु कृषक नन्हेंलाल भाटी के खेत पर जाकर जैविक तरीके से कैसे खाद तैयार की जाती है, कैसे कीटनाशक तैयार होता है, इसकी जानकारी ली। होशंगाबाद के किसानों ने अपने अनुभव बताये और श्री भाटी ने अपने अनुभव बताये। श्री भाटी के यहां भी किसानों ने गौशाला देखी और गौ-पालन की प्रक्रिया पर एकदूसरे के अनुभव बताये। दल में ग्राम सेवा समिति के अध्यक्ष डॉ. नरेन्द्र कुमार चौधरी, जमानी से हेमंत दुबे, ग्राम दहेड़ी से संस्कार गौर, ढाबाखुर्द से प्रतीक शर्मा, ग्राम रोहना से रूपसिंह राजपूत, राजेश शामली, विनीत पांडेय, धरमकुंडी से राकेश गौर, तीखड़ से प्रदीप वर्मा आदि शामिल थे।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: