किसानों ने सरकार के समक्ष रखीं ये आठ मांगें

किसानों ने सरकार के समक्ष रखीं ये आठ मांगें

इटारसी। किसान संयुक्त मोर्चा के आह्वान पर इटारसी तहसील में क्रांतिकारी किसान मजदूर संगठन ने बंद का समर्थन किया एवं एसडीएम (SDM) को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में किसानों ने 8 मुद्दों पर अपनी मांग रखी है।
किसानों ने बैठक करके तय किया है कि भारत सरकार ने जो तीन कृषि कानून लाए वह किसान विरोधी हैं, उन्हें तत्काल वापस लिए जाएं, एमएसपी ( MSP) के कानून की गारंटी दी जाए, समर्थन मूल्य पर सरकार द्वारा जो फसल की खरीदी की उसमें मक्का को शामिल नहीं किया, अच्छा मक्का को भी समर्थन मूल्य पर खरीदा जाए, होशंगाबाद (Hoshangabad) जिले में यूरिया (Urea) एवं डीएपी (DAP) की बहुत ज्यादा कमी है, रबी सीजन के पहले समय रहते डीएपी, यूरिया एवं अन्य रासायनिक खादों का पर्याप्त भंडारण कर सुगमता से किसानों को उपलब्ध कराएं, रासायनिक खाद वितरण केंद्रों पर परिवार के किसी एक सदस्य को रासायनिक खाद लेने हेतु मान्यता प्रदान की जाए ताकि बुजुर्ग व्यक्ति, महिला एवं बीमार कृषकों को लाइन में ना लगना पड़े, रासायनिक खाद की व्यवस्था खुले बाजार में भी की जाए, वर्ष 2019-20 की बीमा राशि एवं मुआवजा राशि की किश्त अति शीघ्र प्रदान की जाए, यदि सरकार किसानों की समस्या हल नहीं करती तो क्रांतिकारी किसान मजदूर संगठन आंदोलन करेगा।
बैठक में जिलाध्यक्ष हरपाल सिंह सोलंकी (District President Harpal Singh Solanki), अरुण पटेल, देवेंद्र पटेल, बृजेश चौर, मोनिस राजपूत, सतपाल राजपूत, लाडली पटेल, दिग्विजय सिंह, अमित राजपूत, वीरेंद्र सिंह सोलंकी, राजेंद्र सिंह राठौड़, नर्मदा पटेल, नीरज पटेल, भूपेंद्र चौरे, राहुल पटेल, अतुल पटेल, मनोज पटेल, पूनम चौरे, आदर्श रघुवंशी, रंजीत रघुवंशी, हेमेंद्र सिंह पटेल, विक्की पटेल एवं अनेक किसान सम्मिलित हुए।

SDM, MSP, Hoshangabad, Urea, DAP, District President Harpal Singh Solanki,
CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!