दो करोड़ से बने दो शाला भवनों (School buildings) का लोकार्पण

दो करोड़ से बने दो शाला भवनों (School buildings) का लोकार्पण

– अब पुरानी इटारसी में कन्याओं के लिए अपना पृथक स्कूल होगा

– अब तक यह स्कूल बालक शाला की कन्या विंग के तौर पर था

– विधायक डॉ. शर्मा के प्रयासों से बने हैं दोनों जगह नये भवन

इटारसी। शहर से सटे मेहरागांव (Mehragaon, itarsi) और पुरानी इटारसी (Old itarsi) के सूखा सरोवर (Sukhasarovar) में एक-एक करोड़ रुपए से निर्मित शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (Government higher secondary school) और नवीन कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (Naveen Kanya Higher Secondary School) भवन का वर्चुअल लोकार्पण(Virtual launch) आज सुबह प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने किया। मुख्य समारोह और लोकार्पण कार्यक्रम का भोपाल से सीधा प्रसारण एलईडी स्क्रीन पर अतिथियों ने देखा। पुरानी इटारसी में एक करोड़ रुपए की लागत से निर्मित शासकीय नवीन कन्या स्कूल के नवनिर्मित भवन का विधायक डॉ सीतासरन शर्मा (Dr. Sitasaran Sharma, MLA itarsi) ने लोकार्पण किया।
इस अवसर पर विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा (Dr. Sitasaran Sharma, MLA itarsi), जिला पंचायत अध्यक्ष कुशल पटेल(District Panchayat President Kushal Patel), पीयूष शर्मा(Piyush Sharma), एसडीएम एमएस रघुवंशी(SDM MS Raghuvanshi), भाजपा के नगर अध्यक्ष नीरज जैन(BJP city president Neeraj Jain), पूर्व अध्यक्ष दीपक अठौत्रा(Former Chairman Deepak Athautra), जसवीर सिंघ छाबड़ा(Jasveer singh chhabra), पत्रकार प्रमोद पगारे(Journalist Pramod Pagare), भरत वर्मा, राकेश जाधव, जिला शिक्षा अधिकारी होशंगाबाद आरएस बघेल(District Education Officer Hoshangabad RS Baghel), पंकज चौरे, जगदीश मालवीय, राहुल सोलंकी, ग्राम सरपंच जितेन्द्र पटेल, विनय तिवारी, प्राचार्य हरीश चौलकर, पूर्व प्राचार्य संजय दुबे सहित स्कूल के शिक्षक-शिक्षिकाएं और स्टाफ मौजूद था।

उल्लेखनीय है कि स्कूल शिक्षा विभाग(School Education Department) के अंतर्गत 135.98 करोड़ की लागत के 129 हाइस्कूल, हायर सेकेंडरी शाला, भवनों, आदिम जाति कल्याण विभाग के अंतर्गत 357.09 करोड़ के 13 कन्या शाला परिसर तथा 4.63 करोड़ के 3 छात्रावास भवनों का वर्चुअल लोकार्पण मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया है। इन शाला भवनों की खास बात यह है कि संपूर्ण प्रदेश में एक जैसी डिजाइन, रंग-रोगन और सामग्री का उपयोग किया है।

मेहरागांव में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा ने कहा कि पहले टूटे शाला भवन में शाला लगती थी। हम विधायक निधि से समय-समय पर कुछ काम कराते रहे। जब 2003 में भाजपा सत्ता में आयी तो काम ने रफ्तार पकड़ी। कांग्रेस शासनकाल में तो विधायक निधि से एकाध कमरा और 25-30 मीटर की सड़क ही बनवा पाते थे। विधायक डॉ. शर्मा ने कि अब सर्वसुविधायुक्त भवन बन गया है। इस वर्ष नये शिक्षा सत्र संभवत: 15 नवंबर से स्कूल नये भवन में लगने लगेगा। मेहरागांव हायर सैकंड्री स्कूल की बड़ी प्रतिष्ठा है। यहां न सिर्फ शिक्षा बल्कि खेल के मामले में बच्चों ने नाम कमाया है। सुविधाएं मिलेंगी तो ये बच्चे शहर के बच्चों से भी काम्पटीशन करेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेश शिक्षा और विकास में नयी इबारत लिख रहा है। स्वागत उद्बोधन पीआईयू के इंजीनियर एसके पाटिल ने दिया। संचालन शिक्षक भुवनेश्वर दुबे ने किया। इस अवसर पर शिक्षक साजिद सिरोंजवी ने शिक्षा के महत्व पर कुछ शेर भी सुनाये।

एक नजर शाला भवनों पर
मेहरागांव –
– लागत : 100.00 रुपए
– क्षेत्रफल : 686.00 वर्गमीटर
– सुविधाएं : पांच क्लासरूम, एक प्राचार्य कक्ष, एक लायब्रेरी हॉल, एक साइंस
लैब, एक कम्प्यूटर कक्ष, एक बॉयज टॉयलेट, गल्र्स टॉयलेट,
दिव्यांग टॉयलेट, रैम्प।
पुरानी इटारसी –
– लागत : 100.00 रुपए
– क्षेत्रफल : 720.00 वर्गमीटर
– सुविधाएं : चार क्लास रूम, एक प्राचार्य कक्ष, स्टाफ रूम, एक लायब्रेरी हॉल,
एक साइंस लैब, एक कम्प्यूटर कक्ष, एक आर्ट एंड क्राफ्ट कक्ष, एक बॉयज टॉयलेट, गल्र्स टॉयलेट, दिव्यांग टॉयलेट, रैम्प।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: