निबंध, प्रश्नमंच और स्लोगन में दिया बचाव का संदेश

निबंध, प्रश्नमंच और स्लोगन में दिया बचाव का संदेश

 

विश्व मच्छर दिवस पर ऑनलाइन प्रतियोगिता आयोजित

इटारसी। शासकीय कन्या महाविद्यालय में विश्व मच्छर दिवस के मौके पर निबंध और स्लोगन प्रतियोगिता का ऑनलाइन आयोजन किया। प्रचार्य डॉ. आरएस मेहरा ने बताया कि विश्व मच्छर दिवस हर वर्ष 20 अगस्त को मनाया जाता है। इस दिन को मनाने की शुरुआत 1897 में हुई थी जब एक ब्रिटिश डॉक्टर रोनाल्ड रॉस ने यह जाना की मादा मॉस्किटो के काटने से मनुष्य के शरीर में मलेरिया और डेंगू जैसी घातक बीमारी फैल रही है। इस दिन को सर रोनाल्ड रॉस की खोज को समर्पित करने के लिए मनाया जाता है जिससे उस समय से लाखों लोगों की जान बच गई। प्राणीशास्त्र विभाग के डॉ. संजय आर्य ने बताया कि इसे मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों में जागरूकता लाना है, जिससे मच्छर से होने वाली अलग-अलग बीमारियां से बचा जा सके।
डॉ. हरप्रीत रंधावा ने एडीज मच्छर के काटने के लक्षण बताये कि इससे तेज बुखार, आंखों के पिछले हिस्से में दर्द, जी मिचलना व उल्टी आना, गर्दन तथा पीठ में दर्द, अकडऩ, जोड़ों तथा मांसपेशियों मे ऐंठन और दर्द, त्वचा पर चकत्ते उभरना, शारीरिक कमजोरी व थकान एवं इससे बचाव के विषय मे बताया कि घर के बर्तनों और बाल्टी जिनमें पानी जमा रहता है उन्हें उलटकर रखें, घर के खाली गमलों को अच्छी तरह साफ रखना चाहिए और पौधों में जरूरत से ज्यादा पानी न डालें क्योंकि पानी अधिक एकत्र रहेगा तो डेंगू के मच्छर पनपने की आशंका बनी रहेगी, बारिश के मौसम में मच्छरदानी का प्रयोग करें, घर में अगर कूलर है तो उसकी सफाई करें और पानी को जमा न होने दें।
प्रश्न मंच प्रतियोगिता में प्रथम रूपाली चौहान, द्वितीय सोनाली पटेल, तृतीय स्थान वैशाली दास ने, निबंध में प्रथम वंशिका राय, द्वितीय दीक्षा यादव, तृतीय स्थान वैष्णवी सोनिया ने एवं सलोगन प्रतियोगिता में प्रथम प्रतिभा सैनी, द्वितीय शिखा यादव, तृतीय स्थान प्रियंका चावरे ने प्राप्त किया।

 

CATEGORIES

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: