राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षक बद्री प्रसाद मैथिल नहीं रहे

राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षक बद्री प्रसाद मैथिल नहीं रहे

इटारसी। श्री देवल मंदिर पुरानी इटारसी के समीप रहने वाले 88 वर्षीय सेवानिवृत शिक्षक श्री बद्री प्रसाद मैथिल नर्मदा पुरम में नर्मदा किनारे पंचतत्व में विलीन हो गए।

उन्हें भारत के राष्ट्रपति के द्वारा विज्ञान के क्षेत्र में नवाचार करने के लिए 5 सितम्बर 1996 को तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ शंकर दयाल शर्मा द्वारा राष्ट्रपति पुरस्कार प्रदान किया गया था।स्व. श्री मैथिल सेवानिवृत्ति के पश्चात भी निरंतर सक्रिय रहे एवं श्री देवल मंदिर काली समिति के द्वारा श्री राम विवाह के अवसर पर निकाली जाने वाली स्मारिका का वर्षों तक संपादन करते रहे।

उनके निधन पर नर्मदा पुरम पत्रकार संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रमोद पगारे, वरिष्ठ साहित्यकार विनोद कुशवाहा ,पत्रकार संघ के संभागीय अध्यक्ष रोहित नागे, कोषाध्यक्ष राजेश दुबे ने श्रद्धांजलि अर्पित की और कहा कि इटारसी ने एक विद्वान और बहुमुखी प्रतिभा के व्यक्ति को खो दिया है ,जिसकी कमी को भरपाना मुश्किल है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!