“समृद्धि डलिया” बनी स्व-सहायता समूहों की समृद्धि का जरिया

“समृद्धि डलिया” बनी स्व-सहायता समूहों की समृद्धि का जरिया

आकर्षक पूजन सामग्री से सुसज्जित समृद्धि डलिया खरीदकर “लोकल फॉर वोकल” में बने सहयोगी

भोपाल।  ये अच्छी कहानी है लोकल फॉर वोकल (Local for vocal) की और इस मुहिम को नागरिकों का पूरा सहयोग और समर्थन मिल रहा है। म.प्र. डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (Grameen Ajeevika mishan) जिला भोपाल अंतर्गत गठित स्व-सहायता समूहों में चार समूह ने दीपावली की पूजा सामग्री से आत्म-निर्भरता का नया द्वार खोला है। ऐसे ही समूह हैं आस्था आजीविका स्व-सहायता समूह ग्राम परवलिया सड़क, सागर आजीविका स्व-सहायता समूह ग्राम सरवर, ओम सांई राम आजीविका स्व-सहायता समूह ग्राम मेंडोरा एवं शिवा आजीविका स्व-सहायता समूह ग्राम पड़रिया काछी के 48 समूह।

डलिया तैयार की

सदस्यों द्वारा दीवाली (Diwali) की पूजा सामग्री युक्त समृद्धि डलिया का निर्माण किया जा रहा है। “समृद्धि डलिया” (“samrddhi daliya”) नाम से समूहों की महिलाओें द्वारा दीपावली पर्व के लिए संपूर्ण पूजन सामग्री रखकर डलिया तैयार की जा रही है। गाय के गोबर से निर्मित दीये एवं समृद्धि डलिया का स्टॉल न्यू मार्केट एवं भोपाल हाट में दीपोत्सव 2020 अंतर्गत लगाया गया है। कलेक्टर भोपाल अविनाश लवानिया (Collector Bhopal Avinash Lavania) के मार्गदर्शन में डलिया के लिए शासकीय विभागों से मांग प्राप्त हो रही है। अभी तक 575 डलिया विभिन्न विभागों स्मार्ट सिटी (Smart City), बीएलसीसी (BLCC), एसबीआई जोनल ऑफिस (SBI Zonal Office), सेन्ट्रल बैंक आफ इण्डिया (Central Bank of India,), जिला पंचायत भोपाल, जिला न्यायालय, मण्डी बोर्ड आदि विभागों द्वारा क्रय की जा चुकी हैं।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: