BREAK NEWS

बैकुंठ सुदर्शन धाम भारत की एकता और अखंडता की प्रेरणा का केंद्र बनेगा

बैकुंठ सुदर्शन धाम भारत की एकता और अखंडता की प्रेरणा का केंद्र बनेगा

-राज्यपाल ने समतामूलक, समावेशी समाज के निर्माण का दिलाया संकल्प
– राज्यपाल ने श्री वेंकटेश्वर मंदिर का किया भूमिपूजन एवं शिलान्यास
इटारसी। नेशनल हाईवे 46, धौंखेड़ा इटारसी के पास 25 करोड़ की लागत से बनने वाले श्री वेंकटेश मंदिर आज आज मध्यप्रदेश के राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने शिलान्यास और भूमिपूजन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा है कि श्री बैकुंठ सुदर्शन धाम का प्रकल्प आने वाली पीढिय़ों के लिए भारत की एकता और अखंडता की प्रेरणा का केंद्र बनेगा। यह धाम राष्ट्रप्रेम और राष्ट्रीय गौरव का प्रतीक होकर आध्यात्मिकता को मजबूत बनाएगा। यह धाम देश के उत्थान के लिए उत्तम मानव निर्माण के संकल्प की पूर्ति में सहायक होगा। शिक्षा, आरोग्य, स्वास्थ्य पर्यावरण संरक्षण की दिशा में भी अपनी महती भूमिका निभाएगा।


इस अवसर पर विधायक एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीतासरन शर्मा, विधायक विजयराघौगढ़ संजय सत्येंद्र पाठक, मध्यप्रदेश तैराकी संघ के अध्यक्ष पीयूष शर्मा, नगर पालिका अध्यक्ष इटारसी पंकज चौरे, जनपद अध्यक्ष भूपेंद्र चौकसे, अखिल भारतीय स्वामी सीताराम आचार्य भागवत गोष्टी न्यास ट्रस्ट के संस्थापक युवराज स्वामी श्री राम कृष्णा आचार्य, राम मंदिर वृंदावन के श्री 1008 गोवर्धन रंगाचार्य स्वामी महाराज, श्री 1008 श्री स्वामी सुदर्शनाचार्य महाराज इटारसी, भूमि पूजन के लिए आए आचार्य कर्नाटका से राम प्रिय भट्टर स्वामी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन मानिकपुरी भिलाई ने किया। संस्थापक युवराज स्वामी श्री राम कृष्णा आचार्य ने मंदिर परियोजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। आयोजन अखिल भारतीय श्री स्वामी सीतारामचार्य भागवत संगोष्ठी न्यास द्वारा किया गया। श्री वेंकटेश्वर मंदिर का भूमि पूजन विधिवत शास्त्रों में निहित परंपरा के अनुरूप किया गया।
राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि ईश्वर की सभी रचनाओं में मानव ही सबसे शक्तिशाली और बुद्धिशाली है। केवल मानव को ही बोलने की शक्ति ईश्वर द्वारा प्रदान की गई है। मानव को धन अर्जन, स्वयं के विकास तक ही सीमित न होकर देश के विकास के लिए भी अग्रसर होना पड़ेगा। उन्होंने सनातन धर्म और संस्कृति के गौरव उत्थान की ऐतिहासिक पहल के लिए न्यास को बधाईयां दी। उन्होंने कहा कि श्री वेंकटेश्वर मंदिर धाम राष्ट्रप्रेम, राष्ट्र गौरव की भावना और आध्यात्मिकता को जनमानस में प्रवाहित करेगा। राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि श्री वैकुंठ सुदर्शन धाम समाज में शिक्षा, योग, ध्यान, स्वास्थ्य और पर्यावरण के संरक्षण के प्रति भी जागरूकता लाने में सहयोगी बनेगा।

युवराज स्वामी जी ने बतायी योजना

मंचीय कार्यक्रम के दौरान न्यास के अध्यक्ष श्री श्री 1008 श्री युवराज स्वामी जी महाराज ने श्री वेंकटेश मंदिर निर्माण एवं प्रकल्पों की जानकारी सभी लोगो को दी। उन्होंने कहा कि यह मंदिर न सिर्फ धार्मिक चेतना को जगायेगा बल्कि यहां आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को सामाजिकता, राष्ट्रीयता और सनातन संस्कारो का भी बोध होगा। इसके साथ ही यहां होने वाले शिक्षा एवं स्वास्थ्य प्रकल्प आमजन के लिए सहयोगी सिद्ध होंगे। उन्होंने कहा कि ग्राम धोखेड़ा का यह क्षेत्र रामानुज नगर के नाम से जाना जाएगा। क्योंकि यह मध्य प्रदेश का पहला भगवान वेंकटेश का मंदिर है और अंतर्राष्ट्रीय वास्तुकार इस मंदिर का डिजाइन कर रहे हैं। निर्माणाधीन श्री वेंकटेश मंदिर परिसर में लेजर शो होगा। उत्सव भवन बनेगा। सुसज्जित गौशाला रहेगी एवं भक्तों के ठहरने के लिए विशाल भवन बनेगा। आधुनिक पार्क के साथ-साथ डिजिटल लाइट एंड साउंड की व्यवस्था भी रहेगी।

इनका रहा विशेष सहयोग

आयोजन को सफल बनाने के लिए अर्पण माहेश्वरी, विपिन चांडक, नितिन अग्रवाल, सतीश बांगड़, गोपाल शर्मा, रमेश चांडक, सत्यम अग्रवाल सहित संपूर्ण शिष्य मंडल एवं राष्ट्रीय सचिव इंजीनियर श्याम काबरा का महत्वपूर्ण योगदान रहा। कार्यक्रम ऐतिहासिक रूप से सफल रहा। भूमिपूजन एवं शंकुस्थापना समारोह के बाद परिसर में विशाल भोजन प्रसादी की व्यवस्था की गयी थी। कार्यक्रम में हजारो की संख्या में पधारे धर्मावलंबियों ने प्रसादी ग्रहण की।

CATEGORIES
TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!