कोचिंग एसोसिएशन ने बंद संस्थानों को लेकर जताई चिंता, कहा 5 सितंबर काली पट्टी बांधकर करेंगे आंदोलन

कोचिंग एसोसिएशन ने बंद संस्थानों को लेकर जताई चिंता, कहा 5 सितंबर काली पट्टी बांधकर करेंगे आंदोलन

कोरोना महामारी में बंद कोचिंग क्लास संचालक को भरण पोषण में आ रही दिक्कत

इटारसी। इटारसी कोचिंग एसोसिएशन(Itarsi Coaching Association) ने कोचिंग संस्थानों(Coaching institutes) की समस्याओं को लेकर पत्रकार वार्ता का आयोजित की। जिसमें कोरोना महामारी के चलते कोचिंग संस्थान बंद होने की समस्याओं को लेकर चर्चा की गई। एसोसिएशन के शिक्षकों का कहना है कि कोचिंग संस्थान बंद होने के दौरान परिवार का भरण पोषण करना मुश्किल हो रहा है। इसी बात को लेकर शिक्षकों ने 5 सिंतबर पर प्रशासन को जाग्रत करने के लिए काली पट्टी बांधकर काला दिवस घोषित करने की बात कही। अगर फिर भी शासन हमारी तरफ ध्यान नहीं देती है तो अनशन और फिर आंदोलन करेंगे।

एसोसिएशन के अध्यक्ष श्याम राजपूत(Chairman Shyam Rajput) ने कहा 6 माह से कोचिंग संस्थान बंद होने के कारण इससे जुडे सभी शिक्षक बेरोजगार हो गए हैं। सचिव संजय मनवारे(Secretary Sanjay Manware) ने कहा कि कई परिवार के सामने उनके भरण पोषण की समस्या भी आ रही है। उनका आय का साधन कोचिंग संस्थान थी जो अब बंद हो चुकी हैं। वहीं पूर्व अध्यक्ष राजेश चौधरी(Former President Rajesh Chaudhary) ने ऑनलाइन क्लासेस(Online classes) से होने वाली समस्याओं से अवगत कराया। गुरप्रीत छाबड़ा(Gurpreet Chhabra) ने कहा कि अगर प्रशासन हमारी ओर ध्यान नहीं देगा तो हम 5 सिंतबर को काला दिवस के रूप में मनाएगें। सदस्य नरेंद्र राजपूत(Member Narendra Rajput) ने बताया कि अब परिवार का भरण पोषण करना असंभव हो रहा है। कार्यक्रम का संचालन सह सचिव व मीडिया प्रभारी आशीष भदौरिया(Ashish Bhadoriya) व आभार प्रदर्शन संरक्षण रजनीश दुबे ने किया।

कोचिंग संचालकों की शासन से मांग
कोचिंग संचालकों का कहना है कि 10 से 15 बच्चों के साथ पढाने की अनुमति दी जाए।
साथ ही भवन का बकाया किराया व बिजली बिल माफ(Electricity bill waived) किया जाए।
कोचिंग संचालन की अनुमति नहीं होने पर शासन आर्थिक राहत पैकेज दे।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: