शासकीय कन्या महाविद्यालय में विकसित भारत हेतु हुई परिचर्चा

शासकीय कन्या महाविद्यालय में विकसित भारत हेतु हुई परिचर्चा

इटारसी। उच्च शिक्षा विभाग (Higher Education Department), मध्य प्रदेश शासन (Madhya Pradesh Government) के निर्देशानुसार शासकीय कन्या महाविद्यालय इटारसी (Government Girls College, Itarsi) में विकसित भारत हेतु सुशासन एवं सुरक्षा विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया। स्वामी विवेकानंद कैरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ (Swami Vivekananda Career Guidance Cell) के तत्वावधान में आयोजित परिचर्चा में विषय विशेषज्ञों एवं छात्राओं ने 2047 में विकसित भारत, विकसित भारत का उद्देश्य तथा विकसित भारत किस प्रकार संभव होगा आदि बिंदुओं पर संवाद कर परिचर्चा में भाग लिया।

प्राचार्य डॉ. आरएस मेहरा (Dr. RS Mehra) ने कहा कि सुशासन एक गुणवत्तापूर्ण शासन को इंगित करता है जिसका स्वरूप समतामूलक, न्याय पूर्ण, जिम्मेदार, भागीदारपूर्ण, लोकोनमुख, पारदर्शी प्रक्रियाएं होता है। स्वामी विवेकानंद प्रकोष्ठ प्रभारी स्नेहांशु सिंह (Snehanshu Singh) कहा कि सुजीवन एवं सुशासन का तात्पर्य नागरिकों का जीवन स्तर ऊपर उठाने से है और जीवन स्तर तभी ऊपर उठता है, जब समावेशी ढांचा पुख्ता हो, जनहितैषी योजनाएं समावेशी विकास से ओतप्रोत हो और सुशासन का आसमान कहीं अधिक नीला हो।

डॉ. शिरीष परसाई (Dr. Shirish Parsai) ने बताया कि विकसित भारत की संकल्पना को पूर्ण करने के लिए महाविद्यालय में आज 18 से 22 दिसंबर 2023 तक सुशासन एवं सुरक्षा, सशक्त भारतीय, संपन्न एवं सुदृढ़ अर्थव्यवस्था, नव प्रवर्तन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा विश्व में भारत विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम में पूनम साहू, डॉ शिखा गुप्ता, प्रिया कलोसिया एवं छात्राओं ने भी विचार रखे। डॉ हरप्रीत रंधावा, मंजरी अवस्थी, डॉ मुकेश चंद्र बिष्ट, डॉ हर्षा शर्मा, डॉ शिरीष परसाई, डॉ श्रद्धा जैन, डॉ नेहा सिकरवार, क्षमा वर्मा, शोभा मीणा, करिश्मा कश्यप तथा छात्राएं उपस्थित थीं।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!